संवाद सूत्र, दिघलबैंक (किशनगंज) : भारत नेपाल सीमा पर तैनात एसएसबी 19वीं बटालियन ठाकुरगंज के अधीनस्थ दिघलबैंक प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय तलवारबंधा में शनिवार को मुफ्त चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में मानव चिकित्सा के साथ-साथ पशुओं का भी चिकित्सा किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ एसएसबी के उप महानिरीक्षक दुर्गा बहादुर सोनार ने किया।

उन्होंने बताया कि नागरिक कल्याण कार्यक्रम के तहत यह योजनाएं गांव समाज में चलाकर मानव चिकित्सा व पशु चिकित्सा नि:शुल्क की जाती है और लोगों को इसका लाभ दिया जाता है। कोरोना गाइडलाइन के तहत लोगों का इलाज किया जा रहा है। उन्होंने ग्रामीणों को कहा कि आपके सहयोग के बिना एसएसबी अधूरी है। आप लोग अपना सहयोग दें हम आपकी सुरक्षा देने के लिए रात दिन तत्पर हैं। इस मौके पर तलवारबंधा, बन्दरझुला सहित अन्य गांव के ग्रामीणों को इसका लाभ दिया गया। साथ ही दवा का वितरण भी किया गया। इस मौके पर अनुभवी चिकित्सक डाक्टरों की टीम के द्वारा पशु चिकित्सक सह कमांडेंट सुमित चौरसिया के साथ उप कमांडेंट चिकित्सक रविकांत द्विवेदी, सहायक कमांडेंट जय प्रकाश कुमार ,डाक्टर मोनोलिशा के द्वारा लगभग 200 लोगों का चिकित्सा किया गया। वहीं 250 पशुओं का भी इलाज किया गया। इलाज के बाद दवा भी मुफ्त वितरण किया गया। कंपनी के असिस्टेंट कमांडेंट जय प्रकाश ने बताया कि एसएसबी हमेशा से बार्डर क्षेत्र में सेवा सुरक्षा बंधुत्व की तरह काम करती है और तरह-तरह के आयोजन भी किया करती है। कभी बच्चों के लिए विद्यालयों में कंप्यूटर कोर्स, खेलकूद, के मैदान में फुटबाल, वालीबाल, हाकी, कैरम बोर्ड सहित अन्य सामानों की आपूर्ति को पूर्ति करती है। समय-समय पर मेडिकल शिविर लगाकर मानव व पशुओं का इलाज भी किया जाता है। मौके पर मौजूद कंपनी के इंचार्ज इंस्पेक्टर जीडी मनीश कुमार ने बताया कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए टीका लगवाना, मास्क का प्रयोग करना सभी के लिए जरूरी है। सीमावर्ती क्षेत्र के असामाजिक तत्वों पर हमारे कंपनी के जवानों के पैनी नजर बनी हुई है। शिविर में जिला परिषद सदस्य भीम प्रसाद कर्मकार, मुखिया प्रतिनिधि तनवीर आलम, इकरामुल हक, ग्रामीण राजनंदन सिंह, असफाक, अफरोज आलम, शब्बीर, असफाक व एसएसबी के जवान मौजूद थे।

Edited By: Jagran