किशनगंज। दिघलबैंक प्रखंड मुख्यालय से पूर्वी क्षेत्र के पंचायतों को जोड़ने वाली मुख्य सड़क जिसे लोग तुलसिया डोम सड़क के नाम से जानते है। इस सड़क से लोग घंटों का सफर मिनटों में करते आ रहे हैं। उस सड़क से लोहागड़ा, सिलीगुड़ी जाने के लिए काफी नजदीक सड़क है। इससे आवाजाही करने पर लगभग 20 किलोमीटर की दूरी भी कम हो जाती है और समय भी कम लगता है।

उसी सड़क में बांसबाड़ी गांव के समीप पिछले दो वर्ष पहले आयी बाढ़ में हुए ध्वस्त पुल का निर्माण अब तक नहीं होने से प्रखंड क्षेत्र की एक बड़ी आबादी को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। जो क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत बड़ी समस्या बनी हुई है। ग्रामीणों ने बताया कि बांसबाड़ी गांव के समीप पुल का निर्माण तीन वर्ष पूर्व हुआ था तभी पुल बन जानें से तुलसिया पंचायत के कई गांवों सहित पदमपुर, अठगछिया, इकड़ा, ताराबाड़ी पंचायत के दर्जनों गांवों के एक बड़ी आबादी को प्रखंड मुख्यालय सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दिघलबैंक तक सीधा संपर्क जुड़ गया था। गांव के सेकड़ों बच्चों को बरसात के दिनों में भी तुलसिया स्थित हाई स्कूल एवं इंटर कालेज तक जाने के लिए रास्ता सुलभ हो गया था। लेकिन पिछले दो वर्ष पहले अगस्त महीने में आए विनाशकारी बाढ़ ने पुल को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया। पुल ध्वस्त हो जाने से लोगों की मुश्किलें बढ़ गयी। बरसात खत्म होते हुए आवाजाही के लिए तत्काल पुलिया के समीप से डायवर्शन का निर्माण कराया गया। लोगों ने बताया कि मानसून शुरू होने को हैं पर अभी तक पुल निर्माण कार्य शुरू नहीं कराया गया। ना ही डायवर्शन ही पूरी तरह से मजबूत लोगों को डर इस बात का हैं कि आने वाले बरसात के दिनों में मुश्किलें फिर बढ़ने वाली हैं। बताते चलें कि प्रखंड मुख्यालय को पूर्वी क्षेत्रों को जोड़ने के लिए तीन सड़क है एक टप्पू हाट से तालबाड़ी होते हुए मदरसा चौक जो बिल्कुल ही जर्जर एवं कई पुलिया कई वर्षों से क्षतिग्रस्त हैं। दूसरा मंगुरा पंचायत के ब्लाक चौक से कलागाछ सड़क में बने पुल भी दो वर्ष पहले से क्षतिग्रस्त है। साथ ही डोम सड़क का भी पुल टूटने से बरसात के दिनों में लोगों को बहादुरगंज होकर ही एक मात्र विकल्प बचा है। ध्वस्त पुल के चलते लोगों को 10 किलोमीटर के बजाय 30 किलोमीटर की दूरी तय करना होगा प्रखंड मुख्यालय आना पड़ता हैं। वहीं इलाके का सबसे बड़े लोहागाड़ा हाट जाने का भी एकमात्र यही सड़क है जो प्रखंड के पश्चिमी क्षेत्र को यही सड़क लोहागड़ा से जोड़ती है। अगर इसे फिर से बना दिया जाय तो लोगों को काफी सहूलियत होगी।ग्रामीणों ने इस ओर प्रशासन का ध्यान आकर्षित कराया है।

Edited By: Jagran