संवाद सूत्र, दिघलबैंक (किशनगंज): कनकई नदी के कहर से बेघर हो चुके कई परिवार अब राहत की आस में टकटकी लगाए बैठे हैं। दिघलबैंक प्रखंड के सिघीमारी पंचायत के मंदिर टोला व पलसा के करीब 10 परिवार के लोग बेघर हो चुके हैं, जिसमें दसना ऋषिदेव, गणपत ऋषिदेव, ललकु ऋषिदेव, कृष्णा सिंह, चोटी लाल सिंह की मदद करने के लिए अब तक कोई आने नहीं आ पाए हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि रेस्क्यू टीम भी गुरुवार शाम को नदी के दूसरी छोड़ पर आई और वापस चली गई। बेघर हो चुके लोगों का एक तो पहले ही आशियाना छीन चुका है लेकिन अब पेट की आग सता रही हैं। दो दिनों से दाने दाने को मोहताज हैं। पीड़ित परिवारों ने प्रशासन से राहत सामग्री के साथ फूड पैकेट की मांग की है। ताकि वे बच्चों व खुद की भूख मिटा सकें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस