फोटो 12 केएसएन 65,66

----------

कोट-प्रखंड क्षेत्र के नदी कटाव से प्रभावित सभी गांव अथवा टोले को चिन्हित कर इसकी सूची विभागीय मंत्री व विभाग के प्रधान सचिव को सौंप गया है। विभाग से सभी कटाव प्रभावित जगहों के लिए तटबंध निर्माण की मांग की गई है। विभाग की ओर से इस दिशा में अग्रेतर कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है।-मुजाहिद आलम, विधायक, कोचाधामन।

-------------

संवाद सूत्र, कोचाधामन (किशनगंज) : प्रखंड के बगलबाड़ी पंचायत के वार्ड संख्या छह स्थित बैरबन्ना गांव के आधा दर्जन परिवार महानंदा नदी के कटाव की जद में हैं। लोगों के आशियाने और नदी के बीच की दूरी महज दो-तीन मीटर ही रह गई है। जिससे ग्रामीणों को अपने घर परिवार की ¨चता सताने लगी है। वहीं पंचायत के बस्ताकोला, बगलबाड़ी, खचपाड़ा, बगलबाड़ी हाट टोला, चरैया व बारहमसिया गांव के लोग महानंदा नदी की त्रासदी से साल दर साल तबाह व बर्बाद हो रहे हैं। अब तक दर्जनों परिवार यहां से घर-द्वार तोड़ कर पलायन भी कर चुके हैं। इधर इन गांव के पूर्व मुखिया नूर इस्लाम नूरी, पूर्व पैक्स अध्यक्ष दुर्गानंद ¨सह, शमशुद्दीन, शाहजहां, जमाल, मुस्लिम, हिजाबुल, रवि कुमार, सुभाष कुमार एवं नकी अनवर आदि ग्रामीणों का कहना है कि अगर जल्द ही कटाव निरोधक कार्य नहीं किया इन गांव का अस्तित्व खत्म हो जाएगा। इस समस्या से सरकार व सरकार के प्रतिनिधियों को अवगत कराया गया है। प्रखंड के पाटकोई कला पंचायत के घुरना चकचकी, कद्दभीटा व कूट्टी पंचायत के कूट्टी गांव भी वर्षों से महानंदा नदी के कटाव से प्रभावित रहा है।

Posted By: Jagran