जागरण संवाददाता, खगड़िया: उत्पाद विभाग द्वारा शराब की तस्करी में पकड़े गए वाहनों की सबसे बड़ी नीलामी शनिवार को जिले में हुई। यह 2016 से अब तक की सबसे बड़ी नीलामी थी। जिसमें 68 वाहनों की अधिसूचना उत्पाद विभाग द्वारा जारी की गई थी। इस नीलामी में ट्रक से लेकर ई-रिक्शा तक नीलाम किए गए। उत्पाद अधीक्षक विकेश कुमार ने बताया कि शनिवार को कुल 68 वाहनों की नीलामी होनी थी। जिसमें तीन वाहनों पर वाहन के मालिक ने कोर्ट में अपील कर दी थी। जिस वजह से नीलामी के लिए कुल 65 वाहन ही शेष थे। इन 65 वाहनों में कुल 53 वाहनों पर 381 आवेदन प्राप्त हुए थे। जिसकी नीलामी समाहरणालय के जिला सभागार में कराया गया। जिसमें 50 वाहनों की नीलामी की गई। उत्पाद अधीक्षक विकेश कुमार ने बताया कि जिले में उत्पाद विभाग द्वारा अब तक की सबसे बड़ी नीलामी थी। वाहनों और आवेदकों की संख्या अधिक होने के कारण नीलामी की प्रक्रिया देर शाम तक चलती रही। जिस वजह से नीलामी में आए राशि की गणना नहीं हो सकी। लेकिन अनुमान है कि 40 से 45 लाख रुपये की राजस्व की प्राप्ति विभाग को हुई। उन्होंने बताया कि आवेदकों की अधिक संख्या होने के कारण नीलामी की प्रक्रिया सुबह 11:00 बजे शुरू की गई। जिसमें पांच- पांच वाहनों की 12 राउंड में नीलामी प्रक्रिया संपन्न कराई गई। जिसमें कोरोना संक्रमण को देखते हुए 30 आवेदकों को एक बार सभागार में प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी। इससे पहले समाहरणालय परिसर में आवेदकों की लंबी कतार देखी गई। जहां उत्पाद विभाग के अधिकारी बारी-बारी से आवेदक को नीलामी प्रक्रिया में शामिल करते दिखे।

----------

30 हजार में नीलाम हुई 32 सौ की स्कूटी, 31 लोगों ने डाला था आवेदन

शनिवार को उत्पाद विभाग द्वारा जिले में सबसे बड़ी वाहनों की नीलामी की गई। जिसमें ट्रक से लेकर स्कार्पियो, पिकअप, बोलेरो, बुलेट, ई- रिक्शा तक की नीलामी हुई। लेकिन सबसे दिलचस्प स्कूटी की नीलामी रहा। चित्रगुप्त नगर थाना अंतर्गत 15 अक्टूबर 2020 को कांड संख्या 782 में शराब तस्करी के दौरान पकड़े गए स्कूटी पर सर्वाधिक 31 लोगों ने आवेदन किया था। बताते चलें कि उत्पाद विभाग द्वारा नीलामी प्रक्रिया में मात्र 32 सौ रुपये इस स्कूटी की न्यूनतम मूल्य निर्धारित की गई थी। जिसकी शनिवार को अंतिम बोली 30 हजार लगी।

Edited By: Jagran