खगड़िया। सरकारी विद्यालयों में संचालित एमडीएम योजना में एमडीएम निदेशक के निर्देश का भी पालन नहीं होता है। जिसका प्रमाण निदेशक द्वारा एमडीएम योजना के मेन्यू के साथ फल व अंडा योजना सहित संपूर्ण मेन्यू विद्यालय में अंकित कराए जाने के निर्देश से संबंधित है। जिसका पालन निर्देश के एक माह से ऊपर बीत जाने के बाद भी नहीं हुआ है। अधिकांश विद्यालय में फल व अंडा योजना सहित का मेन्यू अंकित नहीं किया गया है। बताते चलें कि एमडीएम निदेशक, पटना, विनोद कुमार ¨सह ने 27 जुलाई 2018 को अपने पत्रांक 1386 के माध्यम से एमडीएम का नया मेन्यू विद्यालय में अंकित नहीं कराए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अविलंब नया मेन्यू विद्यालय में अंकित कराए जाने का निर्देश दिया है। साथ ही अक्टूबर 2016 को जारी नए मेन्यू के साथ पुन: नवम्बर 2017 में अंडा या मौसमी फल दिए जाने के पूरी मेन्यू की लिस्ट जारी कर अंकित कराने का निर्देश डीइओ, बीइओ व एमडीएम प्रभारी को दिया गया है। जिसके अनुसार सोमवार को चावल व हरी सब्जी मिश्रित दाल, मंगलवार को जीरा चावल, सोयाबीन-आलू की सब्जी, बुधवार को खिचड़ी हरी सब्जी युक्त एवं एक मौसमी फल, गुरुवार को चावल व हरी सब्जी युक्त दाल, शुक्रवार को पुलाव व काबुली या लाल चना का छोला एवं सलाद के साथ एक अंडा, जो मांसहारी नहीं है उन्हें अंडा के बदले फल, शनिवार को खिचड़ी-चोखा व एक मौसमी फल दिया जाना है। इस मेन्यू को विद्यालय की दीवार पर अंकित कराया जाना है। लेकिन, अधिकांश विद्यालयों में ऐसा नहीं किया गया है। इधर,

एमडीएम प्रभारी के अनुसार इसे लेकर विद्यालय प्रधानों को

अवगत कराया गया है। जो इसका पालन नहीं करेंगे, उनपर कार्रवाई की जाएगी।

=== ===

Posted By: Jagran