संवाद सूत्र, चौथम (खगड़िया):

आखिरकार सीएसपी संचालक अंशु सिंह के हत्यारे पुलिस के हत्थे चढ़ ही गए। चौथम थाना क्षेत्र अंतर्गत करुआमोड़ धर्मकांटा के समीप पुलिस ने मानसी थाना क्षेत्र के ठाठा निवासी पुलिस यादव का पुत्र धारो यादव व सरीक यादव का पुत्र गौरव यादव को एक देसी पिस्तौल व एक कारतूस के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 12 अक्टूबर को घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश लगातार अपना ठिकाना बदल रहा था। लेकिन पुलिस भी तकनीकी ढंग से घटना में शामिल सभी बदमाशों की पहचान कर ली और लगातार बदमाशों का पीछा करते रही। इस बीच थानाध्यक्ष मुरारी कुमार को सूचना मिली कि अंशु सिंह का हत्यारा किसी घटना को अंजाम देने चौथम की ओर जा रहा है। आनन-फानन में पुलिस ने करुआमोड़ धर्मकांटा के समीप नाकेबंदी कर दी। धारो यादव व गौरव यादव एक पल्सर पर सवार जैसे ही करुआमोड़ पुल से नीचे उतरा पुलिस ने घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। तलाशी लेने पर धारो यादव के पास से एक देसी पिस्तौल व एक कारतूस बरामद किया गया। थानाध्यक्ष मुरारी कुमार ने बताया कि पल्सर बाइक भी चोरी की है। बाइक की डिक्की से लूंगी भी बरामद हुई है। घटना के दिन 12 अक्टूबर को धारो यादव ने लूंगी पहनकर घटना को अंजाम दिया था। उन्होंने बताया कि लूंगी पहने हुए पुलिस के पास सीसीटीवी फुटेज है। उन्होंने बताया कि दोनों गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में अहम सुराग मिले हैं। दोनों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है।

Edited By: Jagran