कटिहार। जिला मुख्यालय व मनिहारी की तर्ज पर कोढ़ा प्रखंड में भी विभिन्न दुकानदारों द्वारा फर्जी पहचान पत्र के सहारे मोबाइल सिम की बिक्री की जा रही है। कंपनियों का तय टारगेट पूरा करने के फेर में यह खेल चल रहा है। वास्तविक दस्तावेज नहीं होने के कारण आपराधिक गतिविधियों में इन सिम के इस्तेमाल की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। ऐसे सिम पूर्व से ही एक्टिवेट रहते है। खरीदने के साथ इसका इस्तेमाल शुरू हो जाता है। 50 से 70 रुपये में आसानी से मिलने वाली इन सिम में कंपनियों की स्कीमों के तहत कीमत से अधिक या बराबर बैलेंस रहता है। स्थानीय लोग इस दिशा में समुचित कार्रवाई की अपेक्षा कर रहे हैं। बता दें कि हाल में इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक की अगुवाई में विशेष अभियान चला था और इसमें कई दुकानदारों को जेल भी जाना पड़ा था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस