मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जिले के अधौरा प्रखंड के विभिन्न स्कूलों का प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सुधीर केसरी ने निरीक्षण किया। जिसमें कई विद्यालय में शिक्षक बिना सूचना के अनुपस्थित मिले एवं कई विद्यालयों में छात्र उपस्थिति कम मिली, लेकिन एमडीएम पंजी पर छात्रों की उपस्थिति अधिक मिली। बीईओ ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय पिपरी के निरीक्षण में विद्यालय में कुल छात्रों की संख्या 64 मिली, लेकिन जांच के दौरान केवल विद्यालय में 10 छात्र उपस्थित थे एवं विद्यालय के प्रधानाध्यापिका प्रतिभा प्रजापति बिना किसी सूचना के विद्यालय से अनुपस्थित मिली। प्रधानाध्यापिका के ऊपर कार्रवाई करने की बात बीईओ ने कही। इसके बाद बीईओ द्वारा मध्य विद्यालय डुमरकोन का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान विद्यालय के उपस्थिति पंजी पर अपनी हाजिरी बना कर प्रभारी प्रधानाध्यापक शिवजी यादव, शिक्षिका उमरावती देवी, शिक्षक विजय कुमार, गौतम विद्यालय से गायब मिले। इन शिक्षकों के ऊपर भी अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के लिए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने डीईओ व बीडीओ को पत्र लिखा है। इसके बाद उर्दू मध्य विद्यालय कामकला विद्यालय के जांच में पाया गया कि विद्यालयों में छात्रों की संख्या 202 है, लेकिन विद्यालय में एक भी छात्र उपस्थित नहीं थे। विद्यालय के मध्याह्र भोजन पंजी विद्यालय में मौजूद नहीं थी। इससे स्पष्ट होता है कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक एवं सभी शिक्षक शिक्षिका विद्यालय के प्रति एवं पठन-पाठन के प्रति काफी लापरवाही है। संबंधित शिक्षकों के ऊपर कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा है। वहीं मध्य विद्यालय पिपरा का भी जांच किया गया। जिसमें छात्रों की संख्या में 100 थी, लेकिन जांच के क्रम में मात्र 18 छात्र विद्यालय में उपस्थित मिले। वहीं छात्रों की उपस्थिति देखते हुए प्रतिनियुक्त शिक्षक श्रीकांत सिंह की प्रतिनियोजन रद कर पुन: अपने विद्यालय में जाने के लिए पत्र लिखा गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप