थाना क्षेत्र के ग्राम रामपुर की निवासी डिपल कुमारी पिता रामचंद्र बिद की हत्या कर शव को जला देने के मामले में 50 दिन से अधिक का समय बीतने के बाद भी आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हुई। पुलिस भी इस मामले में सक्रिय नजर नहीं आ रही। इससे परिजनों में असंतोष बढ़ता जा रहा है। बता दें कि डिपल कुमारी की शादी ग्राम नाटी के निवासी अमरजीत बिद के पुत्र धनराज बिद से बीते 19 मई 2019 को हुई थी। शादी में पिता के द्वारा पुत्री को समर्थ के अनुरूप उपहार स्वरूप कई सामान एवं डेढ़ लाख नकद व लड़के को बाइक भी दी गई थी। लेकिन दहेज के लोभी ससुराल पक्ष के लोगों के द्वारा और पैसे की मांग करते हुए बीते 25 दिसंबर 2019 की रात हत्या कर 26 दिसंबर 2019 को शव को जला दिए। इस मामले में 26 दिसंबर 2019 को मृतका के पिता रामचंद्र बिद ने चैनपुर थाने में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई गई थी। इस मामले में प्राथमिकी भी दर्ज हुई और इस केस के अनुसंधानकर्ता एसआइ श्रीनिवास सिंह को बनाया गया। इस मामले में मृतका के पिता के द्वारा आरोप लगाया जा रहा है कि काफी समय बीत जाने के बाद भी पुलिस के द्वारा ना ही उक्त आरोपितों के घर पर छापेमारी की गई और ना ही गिरफ्तारी की गई। बार-बार थाना में पहुंच कर न्याय की गुहार लगाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। इस संबंध में चैनपुर थाना प्रभारी संतोष सिंह ने बताया कि उक्त आरोपी के घर में ताला बंद है। सभी लोग उस समय से फरार हैं। पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कई बार घर पर छापेमारी कर चुकी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस