कैमूर : जिला स्तरीय रैपिड रिस्पांस टीम की बैठक बुधवार को डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी की अध्यक्षता में उनके कार्यालय कक्ष में हुई। बैठक में बताया गया कि कोविड-19 के अंतर्गत जिले के दोनों अनुमंडल क्षेत्रों में 133 एक्टिव केस हैं। जिनमें से 75 मरीज भभुआ अनुमंडल क्षेत्र में व शेष मरीज मोहनियां अनुमंडल में है।

समीक्षा के क्रम में डीएम ने कहा कि जानकारी मिली है कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत किए जाने वाले सर्वे के कार्य में रुचि नहीं ली जा रही है। इसको लेकर डीएम ने डीपीओ आइसीडीएस को निर्देश दिया कि वे सभी सीडीपीओ से स्पष्टीकरण मांगे। गृह सचिव पटना के निर्देशानुसार जिले में बनाए गए कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत लोगों की आवाजाही नहीं करने के अलावा निर्देशित नियमों के अनुपालन कराने को ले अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को आवश्यक कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया। पदाधिकारियों को देखकर मास्क लगाने वाले वैसे लोग जो दिखावा कर रहे हैं ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध गंभीर अर्थदंड लगाते हुए दंडित किए जाने का निर्देश दिया। बैठक में कहा गया कि गृह विभाग द्वारा जारी निर्देशों का अनुपालन कोविड-19 के बचाव के लिए हर हाल में लोगों को करने के लिए जागरूक किया जाए। बैठक में सिविल सर्जन डॉ. अरुण कुमार तिवारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी प्रभात कुमार झा, अनुमंडल पदाधिकारी भभुआ जन्मेजय शुक्ला सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021