सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर कई लोगों से 24 लाख की ठगी करने वाले व्यक्ति को रविवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से नियुक्ति पत्र, पंजाब नेशनल बैंक का चेकबुक, पासबुक, एटीएम कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, एक मोबाइल व एक सिम बरामद हुआ है। गिरफ्तार व्यक्ति भभुआ नगर के वार्ड नंबर पांच प्रोफेसर कॉलोनी निवासी विजय बहादुर सिंह का पुत्र शिवेंद्र कुमार सिंह है। यह जानकारी सोमवार को समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान एसपी दिलनवाज अहमद ने दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2014 में बसंतपुर निवासी रंग बहादुर सिंह के घर पर उनके दूर के रिश्तेदार मनोज यादव ग्राम तराई थाना रामगढ़ जिला कैमूर अपने साथ शिवेंद्र कुमार सिंह को लेकर आए। मनोज यादव ने बताया कि शिवेंद्र कुमार नौकरी लगवाते हैं। उन्होंने नौकरी लगवाने के नाम पर सबसे पहले अपने पुत्र मुकेश कुमार एवं पुत्री पूनम कुमारी के लिए छह लाख दिया। इसके अलावा अन्य व्यक्तियों से करीब 18 लाख रुपया सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर लिया। जब नौकरी के लिए शिवेंद्र कुमार सिंह से कहने लगे तो 2016 में विकास कुमार यादव का बिहार कर्मचारी चयन आयोग पटना में क्लर्क के पद पर नियुक्ति पत्र भेजा जो फर्जी निकला। इसके बाद सभी लोग अपना अपना पैसा मांगने लगे तो शिवेंद्र कुमार द्वारा बताया गया कि नौकरी अवश्य लगेगी। नहीं लगने पर पैसा वापस कर दिया जाएगा। विश्वास में लेने के लिए उसने पंजाब नेशनल बैंक का अलग-अलग ब्लैंक चेक भी दिया। वह भी फर्जी निकला। उसने नियुक्ति पत्र भी दिया। तब रंग बहादुर सिंह द्वारा दुर्गावती थाना में शिकायत की गई। शिकायत के आधार पर पुलिस अवर निरीक्षक संजय कुमार व विनोद कुमार यादव के अलावा पुलिस बल के साथ एक टीम का गठन किया गया। टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर रविवार को शिवेंद्र कुमार सिंह को दुर्गावती थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस