वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 2020 में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं का परीक्षा के लिए आवेदन भरा गया है। आवेदन भरने के बाद विद्यालयों के एचएम को परीक्षा शुल्क विभाग के पोर्टल पर जमा करना था। लेकिन अब तक जिले के 17 विद्यालयों के एचएम ने परीक्षा शुल्क जमा नहीं किया। इसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति सभी एचएम को बार-बार निर्देश दी। मिली जानकारी के अनुसार बकाया परीक्षा शुल्क जमा करने के लिए 11 सितंबर तक का समय दिया गया था। इसके बावजूद भी 17 विद्यालयों के एचएम ने शुल्क जमा नहीं किया। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए समिति ने पुन: 20 सितंबर तक का समय दिया है। साथ ही बताया है कि यदि इस तिथि तक परीक्षा शुल्क जमा नहीं किया गया तो जिन छात्र-छात्राओं का शुल्क जमा नहीं होगा उनका प्रवेश पत्र जारी नहीं किया जाएगा। इसमें कैमूर जिले में 17 विद्यालयों के 142 छात्र-छात्रा शामिल हैं। इन छात्र-छात्राओं का परीक्षा शुल्क कुल 111960 रुपये है। समिति के स्तर से डीईओ को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे एचएम को परीक्षा शुल्क जमा कराने के लिए निर्देशित करें। साथ ही यह भी बताया गया है कि यदि शुल्क जमा नहीं होता है तो पोर्टल पर प्रवेश पत्र का डम्मी जारी नहीं किया जाएगा। साथ ही छात्र-छात्राओं को परीक्षा में बैठने की अनुमति भी नहीं दी जाएगी। इसकी जवाबदेही संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक की होगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस