जमुई। कुंधुर पंचायत अंतर्गत गेनाडीह गांव के वार्ड नंबर 8 में पीएचईडी विभाग की उदासीनता के कारण गेनाडीह महादलित टोला के ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध नहीं हो रहा है। वहीं इस भीषण गर्मी में पेयजल को तरस रहे वार्डवासियों ने गुरुवार को विभाग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। पेयजल संकट से जूझ रहे महादलित टोले की बिजली देवी, आरती देवी, शोभा देवी, मायावती देवी, सबुजा देवी, नेमवती देवी, संगीता देवी, रेखा देवी, लगनी देवी, संजू देवी, टुकनी देवी, चिलो मांझी ने बताया कि हजारों की आबादी वाले इस टोले में मात्र एक चापाकल वह भी रुक-रुककर पानी देता है। इसके बावजूद पीएचईडी विभाग टोले से लगभग एक किलोमीटर की दूरी पर जलमीनार बना रहा है। जिसके कारण गेनाडीह महादलित टोले के ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल नसीब होना मुश्किल लगता है। उन्होंने बताया कि बीडीओ को गामीणों द्वारा आवेदन भी दिया गया है। वहीं विभाग के कार्यपालक अभियंता को भी सूचित किया गया है लेकिन पीएचईडी विभाग के रवैये के कारण ग्रामीणों की मुश्किलें कम नहीं हो रही है।

------------

कहते हैं वार्ड सदस्य :

वार्ड सदस्य संजय रावत ने बताया कि निर्माणाधीन जलमीनार के संबंध में संवेदक द्वारा मुझसे राय नहीं लिया गया। महादलित टोले में ही जलमीनार लगाया जाना चाहिए। इस टोले में पानी की काफी किल्लत है। ग्रामीणों की मांग जायज है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप