जमुई। सोमवार को दिन के 11 बजते ही वक्त का पहिया ठहर-सा गया। एकसाथ असंख्य हाथ दुआ के लिए आसमान में उठ गए तो दो मिनट की गहरी खामोशी छा गई। कोरोना काल में परलोक सिधारे लोगों को श्रद्धा सुमन अर्पित करने और कोरोना संक्रमित के स्वस्थ होने की कामना की दैनिक जागरण की मुहिम से लोग स्वत: जुटते चले गए हैं। जो जहां थे वहीं दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। खास से लेकर आम, जनप्रतिनिधि से लेकर पंचायत प्रतिनिधि, पदाधिकारी से लेकर आमलोगों ने दैनिक जागरण के श्रद्धांजलि रुपी हवन में अपनी श्रद्धासुमन अर्पित किया। यू लग रहा था कि मानों समय ठहर गया हो मानवता का मिसाल देखकर। दैनिक जागरण के प्रयास की चौतरफा सराहना करते हुए लोगों ने कहा कि अपनों के जाने पर कुछ ना कर पाने की दिल की टीस को भी सुकून मिला है। इस मुहिम में जिला मुख्यालय से लेकर गांव की गलियों तक सर्वधर्म प्रार्थना सभा की गूंज सुनी गई। जिला मुख्यालय में अधिकारियों, विभिन्न संगठनों व आमजनों ने सर्वधर्म प्रार्थना सभा में शिरकत कर अपनी भागीदारी के साथ-साथ मानव धर्म का निर्वाहन किया। समाहरणालय स्थित संवाद कक्ष में जिला पदाधिकारी अवनीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में दो मिनट का मौन धारण कर संक्रमण की चपेट में आकर अपनों से बिछड़ने वालों की आत्मा की शांति की प्रार्थना की गई। साथ ही संक्रमितों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की गई। इस दौरान खुद को संकट में डालकर हजारों जिदगियां महफूज रखने में कामयाबी हासिल करने वाले कोरोना योद्धाओं यथा स्वास्थ्य कर्मियों, चिकित्सकों, अधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों व जवानों के साथ-साथ अन्य कर्मियों के लिए भी दुआएं मांगी। इस मौके पर जिला पदाधिकारी के अलावा डीडीसी अहसन, एसडीएम प्रतिभा रानी, डीसीएलआर कुमार सिद्धार्थ, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी मु. सतीख, जिला कल्याण पदाधिकारी भावानंद राय, नजारत उपसमाहर्ता स्वतंत्र कुमार सुमन तथा सदर अंचल अधिकारी दीपक कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। इधर पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार मंडल ने अपने आवासीय परिसर से ही बिछड़ने वालों को श्रद्धांजलि देने की दैनिक जागरण की मुहिम का समर्थन किया। एसडीपीओ कार्यालय ने भी एसडीपीओ डॉ. राकेश कुमार ने अन्य अधिकारियों व कर्मियों के साथ संक्रमण काल में बिछड़ने वालों की आत्मा की शांति की प्रार्थना की। समाहरणालय परिसर में ही अल्पसंख्यक कल्याण एवं आपदा प्रबंधन की ओर से दी गई श्रद्धांजलि में कल्याण कार्यालय से लेकेश नाथ चौधरी, राजकुमार सिंह, दीलिप कुमार रंजन, पंकज कुमार, कौशल कुमार, रंजय कुमार, विवेक कुमार, आपदा प्रबंधन से संघर्ष कुमार झा, रौशन कुमार, नीरज कुमार तथा अल्प संख्यक कार्यालय से अमित कुमार सहित अन्य कर्मी उपस्थित थे। मलयपुर स्थित सीआरपीएफ 215 बटालियन मुख्यालय में कमांडेंट, उपकमांडेंट व सीआरपीएफ जवानों ने दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर कमांडेंट मुकेश कुमार ने बताया कि सीआरपीएफ के दो जवान कुलदीप सिंह मरावी और मुखिया मुंडा की कोरोना से मौत हो गई थी। कोरोना ने न भुलाने वाला दर्द लोगों को दिया है। परहेज के साथ गाइडलाइन का पालन करते हुए गलती से सीख लेकर आगे कोरोना से लड़ना है। श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में उपकमांडेंट संदीप, विजेंद्र कुमार मीणा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सुभाष कुमार सुमन एवं सूबेदार मेजर अरविद कुमार, निरीक्षक मंत्रालय पंकज कुमार, उपनिरीक्षक मंत्रालय अमित कुमार घोष, उपनिरीक्षक मंत्रालय समीर अहमद एवं 215 बटालियन के सभी अधीनस्थ अधिकारी व जवान शामिल थे।

Edited By: Jagran