जहानाबाद

आंधी-तूफान ने जिला से लेकर प्रखंड मुख्यालयों के ग्रामीण इलाकों में भारी क्षति हुई है। राजाबाजार रेलवे अंडर में बारिश का पानी जमा हो गया, जिससे चालकों को वाहन ले जाने में परेशानी हुई। वहीं जहानाबाद रेलवे स्टेशन पर फहरा तिरंगा झंडा का खंभा आंधी से नीचे गिर गया। रतनी फरीदपुर प्रखंड क्षेत्र के शकुराबाद थाना क्षेत्र के सुरही गांव में तेज आई आंधी पानी के दौरान पेड़ गिरने से एक महिला की मौत दबकर हो गई, वहीं मोदनगंज में वज्रपात से एक व्यक्ति की ह्रदय गति रुक जाने से मौत हो गई। शकुराबाद में मृतका प्रेमचंद साव की पत्नी रीना देवी (52 वर्ष) बताई जाती है। महिला को अचेत अवस्था में इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में मौत हो गई। मौत की सूचना पाकर पुलिस दल बल के साथ पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल जहानाबाद भेजा दिया। इधर मोदनगंज प्रखण्ड क्षेत्र में आंधी पानी से कई घर एवं दुकान के करकट के साथ हीं फूस वाले घर हवा को काफी नुकसान पहुंचा। इस आंधी पानी से बिजली पोल,पेड़ पौधे को भी भारी नुकसान हुआ है। बिजली कड़कने की आवाज से बन्धुगंज गांव निवासी (60 वर्ष) झमन मोची की मौत हो गई। काको प्रखंड क्षेत्र में भी आंधी-पानी से काफी नुकसान पहुंचा है। पेड़ों की टूटी टहनी के गिरने से विद्युत व्यवस्था भी चरमरा गई। प्रखंड की नोनही पंचायत के नगमा में कमलेश राम के घर की करकट की छत पर पेड़ गिरने से ध्वस्त हुआ। ज्ञानी बिगहा निवासी पार्वती देवी, और सीताराम यादव के घरों की करकट की छत को तेज हवा उड़ा ले गई। इसी तरह जहरविगहा में लक्ष्मण चौधरी के घर की चाहर दीवारी पर तार का पेड़ गिरा। हालांकि तेज आवाज होने पर घर के सदस्य घर से निकल भागे। जिसकी वजह घर में रखे सामानों क्षति के साथ-साथ खालिसपुर पंचायत के बीबीपुर स्थित वार्ड नंबर 11 में नल जल की पानी से भरी दोनों टंकी तेज पानी आंधी के कारण रेलिग तोड़ते हुए नीचे गिर गया। वहीं घोसी देहुनी गांव में पेड़ गिर जाने से आवागमन बाधित रहा। विद्युत व्यवस्था भी चरमरा गई।