जहानाबाद । हाल के दिनों से जिले में पानी में डूबकर मौत हो जाने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को परसबिगहा थाना क्षेत्र के सोहरइया गांव के अधेड़ के शव की बरामदगी भी नहीं हो पाई थी कि फिर पाली तथा परसबिगहा थाना क्षेत्र में बच्ची तथा वृद्ध की मौत दरधा नदी में डूब जाने के कारण हो गई। इस घटना को लेकर परसबिगहा थाना क्षेत्र के लच्छु बिगहा तथा पाली थाना क्षेत्र के लांजो लोदीपुर में अफरा तफरी का माहौल कायम हो गया। बुधवार को दोनों शवों का पोस्टमार्टम स्थानीय सदर अस्पताल में कराया गया। पोस्टमार्टम के समय भी वहां लोगों की भीड़ लगी रही। जानकारी के मुताबिक लच्छु बिगहा निवासी रामजनम यादव मंगलवार की शाम गांव के समीप दरधा नदी में भैंस धोने गया था। इस दौरान उसका पैर फिसल गया। परिणामस्वरूप वह गहरे पानी में चला गया। हालांकि उसे पानी में डूबते किसी ने नहीं देखा। परिणामस्वरूप उसके परिजन रात भर उसकी तलाश करते रहे। सबसे ज्यादा परेशानी इस बात को लेकर हुई कि भैंस घर चल आई थी लेकिन रामजनम नहीं पहुंचा था। बुधवार को सवेरे नदी किनारे उसका शव देखा गया। इधर लांजो लोदीपुर निवासी विरेंद्र चौधरी की आठ साल की बेटी सरिता कुमारी बुधवार को सुबह स्नान करने के लिए दरधा नदी में गई थी। स्नान करने के दौरान वह भी गहरे पानी में चला गया। ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि गड्ढे में काफी पानी जमा था और वह उसमें चली गई। हालांकि वहां पर और लोग स्नान कर रहे थे जिन लोगों ने शोर मचाया। वहां स्नान कर रहे लोगों ने तत्पर होकर उसे निकालने की कोशिश की, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इस मौत को लेकर लांजो लोदीपुर में तीज पर्व के अवसर पर मातम का माहौल कायम हो गया है।

Posted By: Jagran