जहानाबाद। उद्योग को बढ़ावा देने को लेकर उद्यमियों को ऋण जरूरी है। बगैर पूंजी का कोई भी व्यवसाय फल फूल नहीं सकता है। जिला प्रशासन आम आवाम को रोजगार के साथ ही व्यवसायिक क्षेत्र को विकास करने को लेकर तत्पर है। उक्त बातें जिलाधिकारी नवीन कुमार ने रोजगार को लेकर आयोजित बैठक में लाभुकों को ऋण स्वीकृति पत्र प्रदान करते हुए कहीं। डीएम ने लाभुकों को स्वीकृति पत्र देते हुए उन्हें शुभकामना दिया। उन्होंने लाभुकों से अनुरोध किया कि आप बैंक के माध्यम से लिए गए ऋण का इस्तेमाल सही रूप से करें, ताकि आपके जीवन का विकास हो तथा ऋण भी ससमय भुगतान हो सके। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन एवं बैंकों द्वारा आमजनों को उद्योग करने के लिए काफी प्रयास किया जा रहा है ताकि हर बेरोजगार व्यक्ति को रोजगार मिल सके। कोरोना वायरस संक्रमण के समय में काफी संख्या में हुनरमंद लोग आये हैं, जिन्हें आर्थिक सहायता की आवश्यकता है। वे अपना कागजात तैयार कर उद्योग विभाग से समन्वय स्थापित कर उद्योग कर सकते है। डीएम ने बैंक प्रबंधकों को निदेश दिया कि बैंक द्वारा अकारण ऋण के आवेदन नहीं रोका जाए। जो योग्य लाभुक हैं उन्हें ऋण दे दिया जाए। 93 बैंक शाखा इस जिले में स्थापित हैं। बैंक शाखा अपने-अपने क्षेत्र के लोगो को जागरूक कर सकते है। प्रधानमंत्री स्वरोजगार एवं रोजगार योजना के प्रचार-प्रसार के लिए फ्लैक्स लगाएं ताकि लोगों को इसकी जानकारी हो सके। उन्होंने बैंक प्रबंधकों को निदेश दिया कि उद्योग के लिए जिस आवेदक को कागजात से संबंधित परेशानी हो रही है, वे इसके लिए वरीय उप समाहर्ता पंकज घोष अथवा महाप्रबंधक महेन्द्र यादव से संपर्क कर सकते है।

बैठक में बताया कि पंजाब नेशनल बैंक में 76 आवेदन प्राप्त है। भारतीय स्टेट बैंक में 35, मध्य बिहार ग्रामीण बैंक में छह तथा अन्य बैंको में एक-दो आवेदन उद्योग के लिए प्राप्त हुए है। प्रबंधकों ने बताया कि अधिकांश आवेदनों का निष्पादन कर दिया गया है।शेष आवेदन प्रगति पर है, जो शीघ्र पोर्टल पर अपडेट हो जाएगा। डीएम ने कहा कि 15 दिन के अंदर लंबित आवेदनों का निष्पादन करें। जन प्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं के माध्यम से क्षेत्र में प्रधानमंत्री स्वरोजगार एवं रोजगार योजना का प्रचार-प्रसार कराएं। ऐसे लोगों की जानकारी प्राप्त करें जिनके पास पर्याप्त मात्रा में भूमि उपलब्ध है, उन्हें अपने भूमि पर रोजगार दिया जा सके। वगैरे जमीन वाले इच्छुक लोगों को भी जागरुक रोजगार उपलब्ध कराएं। डीएम ने कहा कि अगली बैठक के पूर्व लंबित आवेदन नहीं रहना चाहिए। डीएम ने बैठक में अनुपस्थित शाखा प्रबंधकों से स्पष्टीकरण पूछा है। उन्होंने निलाम शाखा प्रभारी को 10 फरवरी तक सभी विभागों के खाते की जानकारी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। इस मौके पर उपविकास आयुक्त मुकुल कुमार गुप्ता,एसडीओ निखिल धनराज निप्पणीकार सहित कई बैंक प्रबंधक व अधिकारी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran