गोपालगंज : कुचायकोट थाना क्षेत्र के फुलवरिया कमलाकांत गांव में एक पोखरा में नहाने गए दो चचेरे भाइयों की डूबने से मौत हो गई। दोनों बच्चे अपने-अपने मां-बाप के इकलौते संतान थे। घटना की जानकारी गांव में कोहराम मच गया।

फुलवरिया कमलाकांत गांव के अंकु तिवारी और टिकू तिवारी सगे भाई हैं। बताया जाता है कि दोनों को एक-एक संतान थी। अंकु तिवारी के पुत्र बिट्टू (7 वर्ष) तथा टिकू तिवारी के पुत्र अंकित (6 वर्ष) दोनों साथ-साथ खेलते और पढ़ते थे। शुक्रवार को दोपहर बाद दोनों चचेरे भाई गांव से लगभग आधा किलोमीटर दूर एक चिमनी के किनारे बने पोखरा के किनारे खेलते-खेलते नहाने के लिए चले गए। कुछ और बच्चों के साथ दोनों पोखरा में नहाने लगे। इस दौरान दोनों भाई गहरे पानी में जाने के कारण डूबने लगे। इसके बाद अन्य बच्चे वहां से भाग खड़े हुए। इस दौरान पोखरा के बगल में धान की रोपाई कर रहे मजदूरों ने दोनों बच्चों को पोखरे में डूबते हुए देखा और दौड़कर पोखरे के गहरे पानी से दोनों को निकाला। अचेत अवस्था में दोनों को नजदीक के बथना कुट्टी स्थित एक निजी चिकित्सक के यहां ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद स्वजन मृत बच्चों के शव लेकर गांव आए। बाद में दोनों बच्चों का शव पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया।

उधर घटना की जानकारी गांव में पहुंचते ही पूरे गांव में शोक दौड़ गई। इस हृदय विदारक घटना की जानकारी जिसको भी हुई वह भागकर पीड़ित परिवार के घर पहुंचा और परिजनों को समझाने बुझाने में जुट गया।

Edited By: Jagran