संवाद सूत्र,बैकुंठपुर (गोपालगंज) : कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी है। इन तैयारियों के बीच बैकुंठपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी जरूरी संसाधन बढ़ाए गए हैं। कोरोना की दूसरी लहर में सबसे अधिक परेशानी आक्सीजन की उपलब्धता हो लेकर रही। अब इस अस्पताल में आक्सीजन सिलेंडर तथा आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध हो गया है। ऐसे में अगर तीसरी लहर आई तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आक्सीजन की कमी से मरीजों की सांसें नहीं उखडे़ंगी। उन्हें तत्काल आक्सीजन उपलब्ध हो जाएगी।

कोरोना की दूसरी लहर का असर बैकुंठपुर प्रखंड के गांव-गांव में पड़ा था। कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दबाव बढ़ गया था। मरीजों की बढ़ती संख्या से यहां संसाधनों की कमी महसूस होने लगी थी। खासकर आक्सीजन सिलेंडर को लेकर काफी परेशानी उठानी पड़ी थी। बैकुंठपुर तथा अगल-अगल के प्रखंडों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने को देखते हुए इस प्रखंड के एएनएम स्कूल रेवतीथ में स्वास्थ्य विभाग ने सौ बेड का कोविड केयर सेंटर खोला। अब तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग तैयारियां कर रहा है। इन तैयारियों के बीच सीएचसी बैकुंठपुर में 30 बेड तथा रेवतीथ में खोले गए कोविड केयर सेंटर के सौ बेड मिलाकर मरीजों के लिए 130 बेड उपलब्ध है। इसके साथ ही सीएचसी में आक्सीजन सिलेंडर की कमी भी दूर कर ली गई है। इस अस्पताल में 15 आक्सीजन सिलेंडर तथा 12 आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध है। इस अस्पताल में दो एंबुलेंस उपलब्ध है। एक एंबुलेंस चालक व ईएमटी के अभाव में खड़ी है।

सीएचसी में तैनात हैं दस चिकित्सक व चार एएनएम

बैकुंठपुर (गोपालगंज) : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बैकुंठपुर में हालांकि स्वीकृत पद के सापेक्ष चिकित्सकों की संख्या कम है, लेकिन यहां चिकित्सकों अन्य अस्पतालों की तरह कमी नहीं है। इस अस्पताल में दस चिकित्सक तैनात हैं। जिनमें प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सहित चार सामान्य चिकित्सक, एक दंत चिकित्सक, पांच आयुष चिकित्सक कार्यरत हैं। वहीं दो सामान्य चिकित्सक व दो आयुष चिकित्सक दूसरे अस्पताल में प्रतिनियुक्ति पर हैं। सीएचसी में कुल 17 एएनएम तथा चार जीएनएम कार्यरत हैं।

कहते हैं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी

कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए अस्पताल में संसाधन बढ़ाए जा रहे हैं। यहां आक्सीजन सिलेंडर तथ आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध है। सीएचसी तथा रेवतीथ कोविड सेंटर में मौजूद सौ बेड सहित कुल 130 बेड उपलब्ध है। जरूरत पड़ने पर विभाग के बड़े पदाधिकारियों के आदेशानुसार एंबुलेंस चालक की व्यवस्था की जाएगी तथा मरीजों के लिए अतिरिक्त एंबुलेंस की व्यवस्था की जाएगी।

डा.अनिल कुमार सिंह, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी

Edited By: Jagran