गोपालगंज : गुरुवार की शाम कोविड वैक्सीन का स्टाक खत्म हो जाने से शुक्रवार को जिले के सभी केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम ठप हो गया। वैक्सीन लगवाने वैक्सीनेशन केंद्रों पर पहुंचे लोग निराश होकर अपने घरों को लौट गए। शुक्रवार की रात तक पटना से जिले में वैक्सीन पहुंचने की उम्मीद है। अगर वैक्सीन जिले को उपलब्ध हो गई तो शनिवार से फिर से सभी केंद्रों पर लोगों को कोविड वैक्सीन लगाने का काम शुरू हो जाएगा।

कोरोना से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग वैक्सीनेशन अभियान चला रहा है। जिसके तहत शहर के साथ ही गांव-गांव में कैंप लगाकर लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई जा रही है। लोगों में भी अब वैक्सीनेशन के प्रति जागरुकता पहले की अपेक्षा काफी बढ़ गई है। काफी संख्या में लोग वैक्सीन लगवाने वैक्सीनेशन केंद्रों पर पहुंचे रहे हैं। शुक्रवार को भी वैक्सीन लगवाने के लिए शहर के अंबेडकर भवन, डीएवी हाई स्कूल, सदर पीएचसी तथा शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में खोले गए वैक्सीनेशन केंद्रों पर काफी संख्या में लोग पहुंचे। केंद्रों पर पहुंचने पर लोगों को पता चला कि वैक्सीन का स्टाक खत्म हो जाने के कारण वैक्सीनेशन का काम बंद कर दिया गया है। कबिलासपुर, बसडिला, सरेया, हजियापुर से अंबेडकर भवन वैक्सीन लगवाने पहुंचे लोगों ने बताया कि वैक्सीन कब उपलब्ध है और कब स्टाक खत्म हो जाएगा, इसकी सूचना नहीं देने से काफी परेशानी हो रही है। वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने से लोग निराश होकर अपने अपने घरों को लौट गए। इस संबंध में पूछे जाने पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. शक्ति सिंह ने बताया कि गुरुवार की शाम जिले के वैक्सीन का स्टाक खत्म हो जाने के कारण शुक्रवार को सभी केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम ठप रहा। शुक्रवार की रात तक पटना से वैक्सीन आने की उम्मीद है। वैक्सीन मिल गई तो शनिवार को सभी केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 4.30 लाख से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन लग चुकी है। वैक्सीनेशन के लिए स्लाट बुकिग को खत्म कर दिया गया है। टीका केंद्रों पर आधार कार्ड और मोबाइल नंबर दर्ज कर रजिस्ट्रेशन कर लोगों को सीधे वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की गई है।

Edited By: Jagran