गोपालगंज। राष्ट्रीय जांच एजेंसी(एनआईए) ने शहर के जादोपुर चौक के पास छापेमारी कर कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई से जुड़े धन्नू राजा को गिरफ्तार कर लिया। एनआईए ने वाराणसी में गिरफ्तार किए गए लश्कर के एक आंतकी की निशानदेही पर यह कार्रवाई की है। एनआईए के हत्थे चढ़ा आरोपित पिछले चार- पांच साल से जिले की राजनीति में सक्रिय था। छपरा जिले का मूल निवासी धन्नू राजा शहर के सरेया वार्ड नंबर में अपने मामा के घर रहता था। हालांकि एनआईए को इसने अपना घर का पता सरेया वार्ड एक ही बताया है। इसे गिरफ्तार करने के बाद एनआईए की टीम पटना ले गई। वहां से ट्रांजिट रिमांड पर इसे लेकर चली गई।

बताया जाता है कि छपरा जिले के अफौर गांव निवासी फिरोज आलम का पुत्र धन्नू राजा पिछले चार पांच साल से शहर के सरेया वार्ड नबंर एक के निवासी अपने मामा इस्माइल के घर रहता था। इस्माइल सऊदी अरब में रह कर काम करते हैं। मामा के घर आने के बाद धन्नू राजा कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई से जुड़ कर राजनीति में सक्रिय हो गया। इधर शुक्रवार की शाम एनआईए की टीम गोपालगंज पहुंच गई तथा जादोपुर चौक के पास से धन्नू राजा को पकड़ कर अपने साथ लेकर चली गई। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक मृत्युंजय कुमार चौधरी ने बताया कि 30 नवंबर को एनआईए ने केस नंबर 20/ 17 में उत्तरप्रदेश के वाराणसी से सोशल खान को पकड़ा था। उससे पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर एएनआईए की टीम ने शुक्रवार की शाम शहर के सरेया वार्ड नंबर एक निवासी फिरोज आलम के पुत्र धन्नू राजा को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि इसे गिरफ्तार करने के बाद एनआईए की टीम उसे पटना ले गई।

इनसेट

एनएसयूआइ ने किया अपना सदस्य होने से इन्कार

गोपालगंज : एनआईए के हत्थे चढ़े धन्नू राजा को एनएसयूआई ने अपना सदस्य होने से इन्कार किया है। एनएसयूआइ के जिलाध्यक्ष इरशाद अली ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में कहा कि जादोपुर चौक से एक युवक को गिरफ्तार किया गया है। जो अपने को एनएसयूआई का सदस्य बता रहा है। एनएसयूआई में एक इलेक्टेड सिस्टम है। जिसमें चुनाव की प्रक्रिया होती है। जो चुनाव जीतता है उसे ही पदाधिकारी बनाया जाता है। गिरफ्तार किए गए युवक ने पिछले तीन चार साल से सदस्यता नहीं ली है।

Edited By: Jagran