गोपालगंज। ऐतिहासिक थावे दुर्गा मंदिर के पास विजयीपुर थाना पुलिस ने छापेमारी कर एक युवक की हत्या करने के मामले में फरार चल रहे एक हत्याभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया। विजयीपुर के पंगरा गांव में अपने चचेरी बहन के साथ छेड़खानी का विरोध करने पर युवक को चाकू से गोद कर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के अन्य अभियुक्तों को पुलिस पहले की गिरफ्तार कर चुकी है। गिरफ्तार किए गए हत्याभियुक्त से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

बीते 22 जुलाई की शाम विजयीपुर थाना क्षेत्र के पगरा गांव में एक युवक एक घर में घुस कर घर में एक युवती के साथ छेड़खानी करने लगा। युवती के शोर मचाने पर उसका चचेरा भाई रंजीत कुमार वहां पहुंच गया तथा युवक से उलझ गया। इसी बीच अन्य ग्रामीणों को आता देख छेड़खानी करने वाला युवक धमकी देते हुए वहां से भाग गया। इस घटना के कुछ देर बाद युवक छोटू राम कुछ लोगों के साथ हथियार लेकर रंजीत कुमार के घर पहुंच गया तथा लाठी डंडा से हमला बोल दिया। इसी दौरान चाकू से गोंद कर रंजीत कुमार की हत्या कर दी गई। इस हमले में मृतक रंजीत कुमार के चाचा पोतन राम, भाई राजन व तारकेश्वर राम भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस घटना को लेकर छोटू राम सहित छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद पांच आरोपितों ने पुलिस के समक्ष समर्पण कर दिया। लेकिन मुख्य आरोपित छोटू राम फरार चल रहा था। इसी बीच विजयीपुर थाना पुलिस को सूचना मिलने कि हत्यारोपी छोटू राम थावे दुर्गा मंदिर में दर्शन करने जा रहा है। इस सूचना के आधार पर विजयीपुर पुलिस ने थावे दुर्गा मंदिर में अपना जाल बिछा दिया तथा जैसे ही हत्यारोपी छोटू राम वहां पहुंचे पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपित से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

Posted By: Jagran