जागरण संवाददाता, गोपालगंज : पड़ोसी सिवान जिले की सीमा से लगे हथुआ प्रखंड में मतदान रविवार को समाप्त होने के बाद मतों की गणना का कार्य मंगलवार की सुबह आठ बजे से प्रारंभ होगी। सोमवार को प्रशासनिक स्तर पर मतगणना की तैयारियां चलती रहीं। मतगणना प्रारंभ होने के एक घंटे के बाद सुबह नौ बजे तक पहला परिणाम प्राप्त होने की संभावना है। मतगणना को लेकर हथुआ प्रखंड के लिए पांच अलग-अलग कक्ष बनाया गया है, जहां लगाए गए कुल 80 टेबल पर मतों की गणना का कार्य होगा। प्रत्येक टेबल पर कर्मियों की तैनाती की जाएगी। इनमें मतगणना सुपरवाइजर व गणना सहायक शामिल हैं।

सोमवार को जिलाधिकारी सह जिला निर्वाची पदाधिकारी डा. नवल किशोर चौधरी ने थावे स्थित शिक्षक प्रशिक्षण केंद्र में बनाए गए मतगणना केंद्र सह वज्रगृह का निरीक्षण किया। उन्होंने मतगणना के दौरान पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध करने का निर्देश दिया है। गणना हाल के अंदर बगैर परिचय पत्र के किसी भी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक लगाने का निर्देश दिया है। गणना कार्य में लगने वाले तमाम कर्मियों को पांच बजे के पूर्व गणना स्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया गया है, ताकि पांच बजे गणना कर्मियों का रैंडमाइजेशन करने के बाद उन्हें गणना कार्य में लगाया जा सके। जिलाधिकारी ने गणना कार्य के दौरान यातायात व्यवस्था पर नियंत्रण के लिए पुलिस कर्मियों की तैनाती का निर्देश दिया है। साथ ही गणना केंद्र के आसपास भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध करने को कहा है।

80 टेबल पर होगी मतों की गणना

हथुआ प्रखंड में मतों की मतगणना के लिए पांच हाल में होगी। प्रत्येक हाल में 16-16 टेबल लगाए गए हैं। प्रखंड की गणना का कार्य 80 टेबल पर कराया जाएगा। इनमें एक हाल में लगाए गए 16 टेबल पर सिर्फ पंच व सरपंच पद के मतों की गणना होगी। हथुआ प्रखंड में कुल 18 पंचायत होने के कारण यहां सभी पदों के लिए मतगणना परिणाम मंगलवार को देर शाम तक आने की संभावना है। प्रशासनिक स्तर पर मतगणना के लिए गणना टेबल के अलावा मतगणना हाल में एक आरओ टेबल भी लगाया जाएगा। ईवीएम से होने वाली मतों की गणना में प्रत्येक मतगणना टेबल पर एक-एक गणना प्रेक्षक, गणना सुपरवाइजर तथा गणना सहायक की तैनाती की गई है, लेकिन पंच व सरपंच के पदों की मतगणना के लिए लगाए जाने वाले कुल 16 टेबल में प्रत्येक टेबल पर एक गणना प्रेक्षक, एक गणना सुपरवाइजर तथा दो गणना सहायकों की तैनाती की गई है। रिजर्व में भी गणना सुपरवाइजर व गणना सहायकों को रखा जाएगा। ताकि किसी कर्मी के बीमार होने अथवा अन्य कोई विकट परिस्थिति पैदा होने पर रिजर्व कर्मियों में से कर्मी की तैनाती की जा सके।

प्रत्याशी को केवल एक एजेंट रखने की अनुमति

मतगणना केंद्र पर मतों की गिनती का काम भले ही कुल 80 टेबल पर होगी, लेकिन कोई भी प्रत्याशी केवल एक मतगणना एजेंट के साथ ही मतगणना केंद्र के अंदर प्रवेश कर सकेंगे। प्रत्याशी और एजेंट के अलावा किसी अन्य को प्रवेश नहीं मिलेगा। पूरी मतगणना सीसीटीवी की निगरानी में होगी। संबंधित पंचायत की मतगणना शुरु होने से पहले ही उसके प्रत्याशी और एजेंट को अंदर बुलाया जाएगा।

ईवीएम के लिए हर टेबल पर तीन मतगणना कर्मी

पंचायत चुनाव की मतगणना में ईवीएम वाले टेबल पर तीन-तीन तथा कर्मियों की तैनाती की गई है। ईवीएम से गिनती का हथुआ प्रखंड में 64 टेबल लगाया गया है। हर टेबल पर एक मतगणना सहायक, एक सुपरवाइजर और एक प्रेक्षक की तैनाती की गई है। इसके अलावा बैलेट पेपर के मतों की गिनती के लिए 16 टेबल लगाया गया है।

बिना पास किसी को नहीं मिलेगा प्रवेश

मतगणना को लेकर थावे डायट में बने वज्रगृह की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पोल्ड ईवीएम पहुंचने के बाद रविवार की शाम से ही यहां कड़ी पहरेदारी प्रारंभ कर दी गई है। अलावा इसके बड़ी संख्या में अधिकारी की भी तैनाती इसके लिए की गई है। मतगणना केंद्र के अंदर बिना पास किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा। सुबह पांच बजे मतगणना कर्मी को प्रवेश कराने के बाद, प्रत्याशी और उनके एजेंट को प्रवेश दिया जाएगा। इसके लिए उन्हें पहले से प्रमाण पत्र निर्गत किया गया है।

Edited By: Jagran