जागरण संवाददाता, गोपालगंज : कोरोना महामारी को लेकर सरकार के पूरे सूबे में पांच मई से पूर्ण लॉकडाउन लगाने के फैसले का व्यवसायियों के साथ ही आम लोगों ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि अब कोरोना महामारी ग्रामीण इलाकों तक पहुंच गई है। प्रतिदिन काफी संख्या में लोग कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। कोरोना से लोगों की जान जाने का सिलसिला भी जारी है। जिससे देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन लगाने का सही फैसला लिया है। लॉकडाउन लगाने से कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमेगी। हालांकि लॉकडाउन लगने से काम धंधा तथा रोजी रोजगार प्रभावित होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। लेकिन आज सबसे जरूरी लोगों की कोरोना से जान बचाना है। इनसेट

कहते हैं व्यवसायी

एक सप्ताह पूर्व ही लगना चाहिए था लॉकडाउन

फोटो फाइल : 4 जीपीएल 9

फोटो कैप्शन : मनीष केडिया, व्यवसायी

बिहार सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन लागू करने का फैसला लिया है। यह फैसला एक सप्ताह पूर्व ही कर लेना चाहिए था। खैर सरकार ने लॉकडाउन लगाने का सही फैसला किया है इससे कोरोना संक्रमण के मामले में कमी आने की उम्मीद है।

मनीष केडिया, व्यवसायी

इनसेट

सरकार के पूर्ण लॉकडाउन का फैसला काबिले तारीफ

फोटो फाइल : 4 जीपीएल 10

फोटो कैप्शन : अमित गुप्ता, व्यवसायी

बिहार सरकार के पूर्ण लॉकडाउन का फैसला काबिले तारीफ है। लॉकडाउन लगने से कोरोना महामारी से कई लोगों की जान बच जाएगी। व्यवसायी वर्ग व आम लोग भी लॉकडाउन के नियमों का पालन करना चाहिए। बिना वजह घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।

अमित गुप्ता, व्यवसायी

इनसेट

जिला प्रशासन सख्ती के साथ कराए पूर्ण लॉकडाउन का पालन

फोटो फाइल : 4 जीपीएल 11

फोटो कैप्शन : रवींद्र कुमार सिंह, व्यवसायी

कोरोना से लोगों की मौत हो रही है। गोपालगंज में भी कोरोना से कई लोगों की जान जा चुकी है। सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन का फैसला सही समय पर लिया है। इससे कोरोना महामारी से लोग बच सकेंगे।

रवींद्र कुमार सिंह, व्यवसायी

इनसेट

कुछ दिन पहले ही लगा देना चाहिए था लॉकडाउन

फोटो फाइल : 4 जीपीएल 12

फोटो कैप्शन : नन्हू प्रसाद, गल्ला व्यवसायी

बिहार सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन लगाने का जो फैसला लिया है, उसे कुछ दिन पूर्व ही लेना चाहिए था। अभी भी अगर पूर्ण लॉकडाउन का सख्ती के साथ पालन प्रशासन द्वारा कराया जाता है तो कोरोना के ग्राफ काफी कम आ जाएगी।

नन्हू प्रसाद, गल्ला व्यवसायी