अंबा (औरंगाबाद), संवाद सूत्र। कुटुंबा थाना के रोहिदास गांव की एक अपहृत किशोरी अपने प्रेमी के साथ बुधवार को कुटुंबा थाने पहुंची। वह छह महीने से घर से फरार चल रही थी। उसके स्वजन खोजबीन कर रहे थे। मामले को ले उसकी मां ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। एफआइआर में उसने अपने पड़ोस के अर्जुन यादव, उसके पिता केदार यादव व मां के साथ-साथ उसके बड़े भाई अनिल यादव को नामजद किया था। उसकी मां ने पुलिस से जिक्र किया था कि सभी आरोपित एक राय होकर शादी के नीयत से लड़की को बहला-फुसलाकर भगा ले गए हैं।

पड़ोस के युवक के साथ हो गई थी फरार 

थानाध्यक्ष कमलेश राम से संपर्क करने पर बताया कि प्राप्त आवेदन के आलोक में एक जून को कांड संख्या 90/21 दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई थी। घटना के अंजाम देने के पश्चात सभी अभियुक्त घर छोड़कर भागे चल रहे थे। बताया कि घटना के 15 दिनों के अंदर आइओ लालसाहेब तिवारी ने अन्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। लेकिन किशोरी और मुख्य अभियुक्त अर्जुन पुलिस गिरफ्त से बाहर चल रहा था। बताया कि प्रेमी जोड़ा ने थाने पहुंचकर बताया कि दोनों ने शादी कर ली है। थानाध्यक्ष ने बताया कि युवती को 164 के तहत बयान दर्ज कराने के लिए न्यायालयों में समर्पित किया गया है। वहीं युवक को जेल भेज दिया गया है।

प्रेमी युगल ने थाने पहुंच लगाई जान बचाने की गुहार

गोह थाना क्षेत्र के एक गांव के घर से भागे प्रेमी युगल ने बुधवार को गोह थाने पहुंचकर जान बचाने की गुहार लगाई है। थानाध्यक्ष ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दोनों प्रेमी युगल को न्यायालय में बयान को लेकर भेज दिया है। थानाध्यक्ष शमीम अहमद ने बताया कि थाना क्षेत्र के एक गांव के लड़की के पिता ने आवेदन देकर बताया है कि घेजना गांव निवासी राजेश कुमार उर्फ लालू यादव उर्फ राकी राज मेरी 17 वर्षीय पुत्री को शादी की नीयत से भगाकर ले गया है। मामले में लड़की की पिता के बयान पर कांड संख्या- 247/21 दर्ज किया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले को लेकर आरोपित राजेश कुमार के पिता पर दबिश बनाया गया तो आरोपित युवक लड़की के साथ थाना में पहुंच गया। जान बचाने की गुहार लगाई है। तत्पश्चायत बयान को लेकर न्यायालय में भेज दिया गया है।

Edited By: Vyas Chandra