इमामगंज(गया) संवाद सूत्र। गया में शराबी पति को शराब पीने से मना करना पत्नी को भारी पड़ गया। पति ने बार बार पत्नी के विरोध करने पर उसकी हत्या कर दी। जिले के बांकेबाजार थाना क्षेत्र के पननियां गांव में शनिवार की रात शराब नशे में पति ने लाठी से पीटकर पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। वारदात को छिपाने के लिए पति ने बहुत ही चालाकी से खून से लथपथ कपड़े को बदल दिया। शव को घर के दूसरे कमरे में रखकर शोर मचाकर ग्रामीणों को बताया कि जहर खाकर आत्महत्या कर ली है। 


पुलिस को धोखा देने के लिए रची ये साजिश

बताया जाता है कि पवन मिस्त्री ने पत्नी संगीता देवी (30 वर्ष) को लाठी से पीटकर हत्या कर दी। इसके बाद आत्महत्या करने की बात कहने लगा। ग्रामीणों ने दूसरे कमरे में खून से सना कपड़ा देखकर समझ लिया कि कुछ गड़बड़ है। इसके बाद किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने रविवार को जब घटना की जांच की तो मामला सामने आ गया। महिला के गले पर लाठी के निशान भी मिले। 

शराब पीने का विरोध करती थी पत्नी

ग्रामीणों का कहना है कि पवन व संगीता (30 वर्ष) की शादी वर्ष 2011 में हुई थी। शादी के पांच साल तक सब कुछ ठीक-ठाक रहा। इसके बाद पवन शराब पीकर घर आने लगा। शराबबंदी के बाद शराब पीने पर पत्नी विरोध करती रही लेकिन उसमें कोई सुधार नहीं हुआ। शराब पीकर पिटाई करता था। संगीता के तीन बच्चे कृष्ण कुमार (8 वर्ष), राधिका कुमारी (6 वर्ष) रितिका कुमारी (4 वर्ष) हैं। थानाध्यक्ष नईयर एजाज अहमद ने बताया कि पवन मिस्त्री ने शनिवार की रात नशे में अपनी पत्नी को पीटकर मार डाला। उसे गिरफ्तार कर लिया गया गया है।

संगीता का मायका औरंगाबाद जिले के देव तेतरिया में है। घटना की सूचना पर उनके स्वजन को दी गई है लेकिन मायके से कोई नहीं पहुंचा। बताया जाता है कि महिला की पिटाई और वारदात के वक्त तीनों बच्चे दूसरे कमरे में सो रहे थे। इन दोनों के अलावा घर में और कोई नहीं था। इधर, पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव को पवन के बहनोई को सौंप दिया है। उसने ही शव का दाह संस्कार कर दिया है। बहनोई ने ही साले पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। 

Edited By: Rahul Kumar