जेएनएन, गया / सासाराम । मौसम का मिजाज अब पूरी तरह बदल गया है। शुक्रवार की सुबह कनकनी काफी अधिक रही। कुहासा भी सड़कों पर दिखा। ऐसे में मौसम में वाहन चलाना बड़ी चुनौती बन गया है। कुहासे के कारण हो रही दृश्‍यता की कमी से हादसे की आशंका बनी रहती है। अक्‍सर दुर्घटनाएं हो भी रही हैं। ऐसे में वाहन चलाने में काफी सतर्कता की जरूरत है। मौसम की वजह से हो रही दुर्घटनाओं पर प्रशासन ने भी संज्ञान लिया है। इस क्रम में परिवहन विभाग व सड़क सुरक्षा परिषद की ओर से एडवाइजरी जारी की गई है।

कुहासे में बहुत सतर्क रहने की जरूरत

य परिवहन सचिव सह सदस्य सचिव बिहार सड़क सुरक्षा परिषद संजय कुमार अग्रवाल ने इस बाबत जिलाधिकारी को पत्र भेजा है। सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए जागरूकता अभियान चलाने समेत अन्‍य निर्देश दिए हैं। डीटीओ मो जियाउल्लाह ने बताया कि राज्य परिवहन सचिव ने डीएम व परिवहन विभाग सहित कई अन्य विभागों को कई निर्देश दिया है। घने कोहरे के दौरान सुरक्षित वाहन परिचालन के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक करने को कहा गया है।  सघन वाहन जांच का भी निर्देश दिया है। इसको लेकर बैठक की गई। इसमें अधिकारियों से कहा गया कि इन दिनों कुहासा बढ़ता जा रहा है। ऐसे में वाहन चालकों को बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। इनसे न केवल सड़क हादसे टाले जा सकते हैं कि बल्कि जीवन भी बचाना संभव हो सकता है। कुहासे के कारण हो रही दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए संबंधित विभागों को आइआरसी 35 मानकों के अनुरुप सड़क पर लेन मार्किंग करवाने का निर्देश मिला है। सड़क के आस-पास के मकानों तथा पेड़ पर ऑब्जेक्टिव हैजार्ड्स मार्कर तथा रिफ्लेक्टिव टेप लगाना है। पूर्व में अधिष्ठापित सड़क सुरक्षा चिह्नों की मरम्मत कराने काे भी सचिव ने कहा है।

जरूरी न हो तो कुहासे के दौरान यात्रा करने से बचें

राज्य परिवहन सचिव के पत्र में आम लोगों से  अपील की गई है कि कुहासे के दौरान वाहन चलाने के दौरान सावधानी बरते। यातायात के सभी नियमों को हर हाल में पालन करें। संभव हो तो कुहासे के दौरान यात्रा नहीं करें। जरूरी हो तो नियंत्रित गति से इंडिकेटर का लगातार प्रयोग करें। घने कोहरे में सड़क पर दायीं  तरफ पेंटेड रोड मार्क और डिवाइडर के आधार पर ही आगे बढ़ें। वाहन पर रेडियम स्टीकर्स जरूर लगाएं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021