गया, जागरण संवाददाता। आपदा की समीक्षा करने पहुंचे गया जिला के प्रभारी सह बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि भले इस बार यहां पितृपक्ष मेला नहीं लग रहा हो, लेकिन श्रद्धा के साथ पिंडदान करने के लिए गयाजी पहुंचे सभी श्रद्धालुओं का 'अतिथि देवो भव:' के भाव के साथ स्वागत होगा। शहर समेत फल्गु के घाटों, मंदिर परिसर में समुचित सफाई व पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था रहेगी।

मंत्री ने प्रेस वार्ता में कहा कि पितृपक्ष में बिहार, यूपी, बंगाल समेत देश के कमोबेश सभी राज्यों तथा दर्जनों देश से पिंडदानी आते हैं। उनके लिए हर व्यवस्था की जाएगी, ताकि गयाजी आने पर उन्हें गया व बिहार का अच्छा माहौल महसूस हो। पिंडदानियों की समस्या के निदान के लिए 24 घंटे का नियंत्रण कक्ष काम करेगा। मेले की सभी व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन को सभी इंतजाम करने को कहा गया है।

आयोजन नहीं मगर स्‍वागत में कोई कसर नहीं रहेगी बाकी

पितृपक्ष मेले को लेकर बने संशय पर प्रभारी मंत्री ने स्पष्ट किया कि राज्य सरकार के स्तर से मेले का आयोजन नहीं होगा। बावजूद इसके पिंडदानियों की सेवा व सुविधा में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। पितृपक्ष के दौरान सामाजिक संगठनों से भी सहयोग लिया जाएगा। प्रभारी मंत्री ने सभी पिंडदानियों से अनुरोध किया कि कोविड गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करें। सभी लोग शारीरिक दूरी, हैंड वाश व मास्‍क लगाने के नियमों का पालन करें। कर्मकांड के दौरान मास्क पहनकर रखें और कोरोना वायरस से बचाव का टीका जरूर लगाएं।

राज्य में उद्योग व रोजगार का बनने लगा माहौल :

उद्योग मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में समूचा एनडीए एकजुट होकर राज्य की तरक्की के लिए काम कर रहा है। उद्योग व रोजगार का माहौल बन रहा है। मंत्री बनने के बाद उद्योग के लिए जो पहला प्रस्ताव लिया, वह गया जिले के डोभी की कारिडोर योजना थी।

 

Edited By: Sumita Jaiswal