संवाद सूत्र, गोह (औरंगाबाद)। शिवगंज-बैदराबाद पथ एसएच 68 पर गुरुवार को गोह थाना के अकौनी मोड़ के समीप बाइक व ट्रक के बीच हुई सीधी टक्कर में पिता की मौत हो गई है। जबकि पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गया। मृतक सैनिक से रिटायर थे। वहीं घायल पुत्र वर्तमान में हिमाचल प्रदेश में आइटीबीपी (इंडियन तिब्बत पुलिस बल) में जीटी के पद पर पदस्थापित है।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि बंदेया थाना के मायापुर गांव निवासी 55 वर्षीय रमेश यादव अपने पुत्र शैलेश यादव के साथ बाइक से अपनी दुकान खोलने गोह बाजार आ रहे थे। जैसे ही दोनों पिता-पुत्र अकौनी मोड़ के समीप पहुंचे कि विपरीत दिशा से आ रहा ट्रक ने बाइक सवार को सामने से टक्कर मार दी। जिसमें पिता-पुत्र रमेश यादव व शैलेश यादव गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़े।

स्थानीय लोगों की मदद से दोनों को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां इलाज के क्रम में पिता की मौत हो गई। जबकि चिकित्सक ने पुत्र को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल गया रेफर कर दिया गया। इसी बीच हादसे के वक्त वहां से उदयपुरा गांव निवासी छोटे सिंह के 15 वर्षीय पुत्र सुनील कुमार साइकिल से ट््यूशन पढऩे जा रहा था। वह भी वाहन की चपेट में आकर जख्मी हो गया है। जिसका इलाज स्थानीय निजी अस्पताल में चल रहा है। यहां बता दें कि मृत रमेश यादव गोह बाजार में कैंटीन की दुकान चलाते थे।

घटना की सूचना मिलते ही प्रभारी थानाध्यक्ष दिनेश पासवान मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। फिर पोस्टमार्टम कराने के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया गया है। इधर घटना की सूचना मिलते ही बक्सर पंचायत के मुखिया अशोक प्रसाद ने मृतक के स्वजनों को कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत तीन हजार रुपये की राशि प्रदान की। साथ ही घायल जवान के इलाज में हर संभव मदद का भरोसा दिया। इधर गोह सीओ ने मृतक के स्वजन को चार लाख रुपये का चेक सौंपा है। घटना से आहत मृतक के पत्नी सूर्यमणि देवी के साथ पुत्र व पुत्री का रोते-रोते हाल बेहाल है। विदित हो कि सरकार द्वारा अभी सड़क सुरक्षा माह का आयोजन किया जा रहा है। बावजूद प्रखंड क्षेत्र में प्रतिदिन सड़क दुर्घटना हो रही है। जागरुकता के नाम पर सिर्फ दिखावा किया जा रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप