गया, ऑनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics: बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) ने रविवार की शाम कहा कि दूसरे प्रांतों में काम करने वाले बिहार के लोग जितना जल्‍दी हो सके, अपने घर लौट आएं। राज्‍य की सरकार उन्‍हें हर जरूरी सहूलियत देगी। मुख्‍यमंत्री के इस बयान के बीच राजद (RJD) के दबंग विधायक सुरेंद्र प्रसाद यादव (RJD MLA Surendra Prasad Yadav) ने राज्‍य सरकार से कई सवाल पूछ डाले हैं। उन्‍होंने रोजगार के लिए पलायन के मुद्दे पर सरकार को घेरा है और सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए हैं। सुरेंद्र यादव गया जिले के अंतर्गत बेलागंज विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचित प्रतिनिधि हैं।

कोरोना की पहली लहर के वक्‍त किए वादे का क्‍या हुआ

सुरेंद्र यादव ने ट्वटि कर बिहार की सरकार पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर के वक्‍त बिहार सरकार ने प्रवासी मजदूरों को स्‍थानीय स्‍तर पर रोजगार उपलब्‍ध कराने की बात कही थी। इस वादे का क्‍या हुआ? सरकार को इसका जवाब देना चाहिए। सरकार ने अगर स्‍थानीय स्‍तर पर रोजगार दिया तो प्रवास‍ियों को इस संकट काल में दोबारा पलायन की जरूरत क्‍यों पड़ी?

गरीबों को मुफ्त राशन और एलएलए फंड का भी मांगा हिसाब

राजद विधायक ने कहा कि सरकार ने गरीबों को मुफ्त राशन देने की बात कही थी। विधायक फंड का इस्‍तेमाल कोरोना से लड़ाई में करने की बात भी कही थी। सरकार बताए कि इन पैसों का क्‍या हुआ? उन्‍होंने सीधे मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्‍हें इन सवालों का जवाब देना चाहिए।

डेटा छिपाने का आरोप लगा सीएम पर कसा तंज

राजद विधायक ने कोरोना से संक्रमित और मौतों का आंकड़ा छिपाने का आरोप इशारों-इशारों में राज्‍य सरकार पर लगाया है। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री को डेटा गुरु कहकर तंज कसा है। उनका कहना है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में घालमेल हो रहा है। सरकार की नीयत इस बारे में साफ नहीं है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021