गया । ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) में शनिवार को 165 जेंटलमैन कैडेट प्रशिक्षण पूरा करने के बाद सेना में अधिकारी बन गए।

इस मौके पर उन्होंने शानदार पासिंग आउट परेड का प्रदर्शन किया। यह 14वीं पासिंग परेड थी। प्रशिक्षण प्राप्त करने वालों में तीन विदेशी भी हैं। ये भूटान के हैं। इस तरह 168 जेंटलमैन कैडेटों ने प्रशिक्षण पूरा किया। स्पेशल कमीशन ऑफिसर में असम रायफल के 19 कैडेट भी प्रशिक्षण पूरा कर अधिकारी बने। वहीं, टेक्निकल एंट्री स्कीम के 97 जेंटलमैन कैडेटों ने एकवर्षीय बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण पूरा किया। वे अब तकनीकी शिक्षा के लिए देश के अलग-अलग सैन्य तकनीकी संस्थानों में जाएंगे। एकवर्षीय कोर्स पूरा करने वाले जेंटलमैन कैडेट मिलिट्री कॉलेज इलेक्ट्रानिक्स एंड मैकनिकल इंजीनिय¨रग सिकंदराबाद, मिलिट्री कॉलेज ऑफ टेलिकम्यूनिकेशन इंजीनिय¨रग मऊ एवं कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनिय¨रग पुणे से इंजीनिय¨रग में स्नातक डिग्री के लिए गए हैं।

ओटीए के राजव‌र्द्धन ग्राउंड में आयोजित पासिंग आउट परेड के मुख्य अतिथि रॉयल भूटान आर्मी के मुख्य ऑपरेशन अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल बात् त्शे¨रग को कैडेटों ने सलामी दी। उनका स्वागत आर्मी ट्रेनिंग कमान के लेफ्टिनेंट जनरल पीसी थिम्मिया ने किया। उन्होंने परेड स्थल पर सैन्य वैभव से परिपूर्ण सुसज्जित बग्घी पर परेड का निरीक्षण किया। उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इससे पहले परेड का निरीक्षण मुख्य अतिथि एवं गया ओटीए के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल सुनील श्रीवास्तव ने किया। परेड के शुभारंभ में कैडेटों ने निरीक्षण अधिकारी को सैन्य सैल्यूट दिया। उसके बाद एक शानदार मार्चपास्ट करते हुए सलामी दी।

निरीक्षण अधिकारी ने प्रशिक्षण के दौरान बेहतर व उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले जेंटलमैन कैडेटों को पुरस्कृत किया। सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बिहार के बक्सर जिले के प्लाटून कैडेट क्र्वाटर मास्टर अंजनी कुमार मिश्रा को प्रतिष्ठित स्वार्ड ऑफ ऑनर प्रदान कर सम्मानित किया गया। अन्य प्रशिक्षुओं में प्लाटून कैडेट क्वार्टर मास्टर अंजनी कुमार मिश्रा (बक्सर) को स्वर्ण, विंग कैडेट एडजुटेंट दीपांशु अग्रवाल (इंदौर) को रजत एवं विंग कैडेट कैप्टेन हर्षित बर्गोती (मुरादाबाद, उत्तरप्रदेश) को कांस्य पदक मिला। एससीओ कोर्स में सभी क्षेत्रों में बेहतर करने वाले बटालियन कैडेट एडजुटेंट सिंकदर सिंह को रजत पदक से सम्मानित किया गया। शीत सत्र के प्रशिक्षण काल में प्रत्येक क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाली प्रशिक्षु कंपनी गुरेज को प्रतिष्ठित चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर प्रदान किया गया।

सेना के नव अधिकारियों को संबोधित करते हुए भूटान आर्मी के लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा कि सैनिकों को अपने जीवन में सैन्य गुणों और सद्भाव को आत्मसात करना चाहिए। उन्होंने अभिभावकों को धन्यवाद देते हुए कहा कि वे सौभाग्यशाली होते हैं, जिनके पुत्र प्रतिष्ठित क्षेत्र में सेवा देते हैं। पेश में सेवा देते हैं। उनमें सैन्य सेवा भी शामिल है। इन नए कमीशन प्राप्त अधिकारियों के माता-पिता और अभिभावकों के लिए यह जीवन के महत्वपूर्ण पल थे। उनके लिए गौरव की बात थी कि उनका बेटा देश की सेवा के लिए तैयार हो चुका है।

Posted By: Jagran