जागरण संवाददाता, गया : सार्वजनिक स्थलों धूम्रपान करते या फिर तंबाकू उत्पाद बेचते पकड़े गए तो अब जुर्माना भरना पड़ेगा। उप विकास तंबाकू के दुष्परिणामों से बच्चों और व्यस्कों को बचाने के लिए आयुक्त किशोरी चौधरी ने सख्त कदम उठाने को कहा। उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि शिक्षण संस्थानों के 100 गज की दूरी पर तंबाकू उत्पाद की दुकानों को यथाशीघ्र हटाया जाए। आदेश के उल्लंघन करने वालों को दंडित किया जाएगा।

सीड्स और जिला तंबाकू नियंत्रण कोषाग के संयुक्त तत्वावधान में एक संवेदीकरण सह उन्मुखीकरण कार्यशाला मंगलवार को समाहरणालय में आयोजित किया गया। इसका शुभारंभ प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु डॉ. योगेश कुमार सागर ने किया। सीड्स के कार्यपालक निदेशक दीपक मिश्रा ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से तंबाकू नियंत्रण की आवश्यकता पर बल दिया। कार्यक्रम में सभी विभागों को अपनी भूमिका निभाने के लिए सुझाव दिए गए। तंबाकू नियंत्रण के प्रभारी नोडल पदाधिकारी डॉ. एमई हक ने तंबाकू के दुष्परिणाम बताए। कार्यशाला में सिविल सर्जन डॉ. राजेंद्र प्रसाद सिन्हा, अपर समाहर्ता राजकुमार सिन्हा, पुलिस उपाधीक्षक राजकुमार साह, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सुरेंद्र चौधरी, सीड्स के कार्य्रम पदाधिकारी सुनील चौधरी, धर्मेद्र कुमार, जिला कार्यक्रम प्रबंधक मनीष कुमार सहित प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष ने हिस्सा लिया।

Posted By: Jagran