गया। मोक्षनगरी गया शहर का धार्मिक व ऐतिहासिक महत्व है। यहां हर साल पितृपक्ष में लाखों पिडदानी अपने पूर्वजों के मोक्ष की कामना के लिए पिडदान करने पहुंचते हैं। उनके लिए फल्गु नदी का पानी काफी मायने रखता है। फल्गु में 266 करोड़ से बन रहा रबर डैम, अक्टूबर 2023 तक होगा तैयार :

रबर डैम का निर्माण जल संसाधन विभाग द्वारा किया जा रहा है। 266 करोड़ रुपये की राशि से बनने वाला यह विशेष डैम अक्टूबर 2023 में बनकर तैयार हो जाएगा। यह बिहार का इकलौता रबर डैम है। डैम की लंबाई 411 मीटर होगी। इसमें सात पाया का निर्माण किया जाएगा। पाया की गहराई 24 से 28 मीटर तक होगी। एक से दूसरे पाया की दूरी 65 मीटर होगी। हरेक पाया के बीच में 65 मीटर का गुब्बारा लगा रहेगा, जो पूरी तरह से वाटर प्रूफ रहेगा। डैम पर प्रतिदिन 2500 घन मीटर पानी रहेगा। डैम की चौड़ाई तीन मीटर होगी। इस पर पाथ-वे का निर्माण भी किया जाएगा। फल्गु में तीन मीटर तक पानी आने पर विशेष गुब्बारे से उस पानी को वहां रोका जाएगा। अधिक पानी आने पर गुब्बारे की हवा कम कर नीचे की ओर पानी का बहाव दिया जाएगा। ताकि डैम सुरक्षित रह सके। विभाग के विशेषज्ञ की मानें तो फल्गु नदी में रबर डैम का निर्माण होने से देवघाट, संगम घाट के पास हमेशा पानी रहेगा। इससे पिडदानियों को तर्पण करने में आसानी होगी। गर्मी के दिनों में भी नदी में पानी रहेगा। पेयजल की योजना से शहरवासियों को दशकों तक मिलेगा लाभ : जिलाधिकारी

गया। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने सीएम नीतीश कुमार के गया आगमन पर खुशी जताते हुए कहा कि गंगा उद्वाह योजना हो या रबर डैम सभी पेयजल योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी आएगी। सीएम ने जो भी निर्देश दिया है, उसका अक्षरश: पालन कराया जाएगा। पेयजल की जो योजना बनी है, वह अगले 50 से 100 सालों के लिए है। यह गयावासियों के लिए सौभाग्य की बात है। लोगों के घर-घर गंगा के पानी को शुद्ध करके पहुंचाया जाएगा। पेयजल का जो भी संकट है वह दूर होगा। नेताओं को देख सीएम ने रुकवाई गाड़ी, उतरकर किया अभिवादन :

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर जदयू नेताओं में जबर्दस्त उत्साह दिखा। सांसद समेत एलएलसी, पूर्व विधायक, जदयू के विभिन्न प्रकोष्ठ के नेता सीता कुंड में जुटे थे। जगह-जगह नेताओं की टुकड़ी हाथों में फूल माला लिए हुए सीएम से मिलने को उत्सुक दिखी। सीताकुंड में जदयू जिलाध्यक्ष द्वारिका प्रसाद ने अंग वस्त्र देकर सीएम का स्वागत किया। अन्य नेताओं ने फूलों की माला पहनाई। सांसद विजय कुमार, एमएलसी संजीव श्याम सिंह, मनोरमा देवी, पूर्व विधायक अजय पासवान, कृष्णनंदन यादव, पूर्व मंत्री विनोद यादव, शौकत अली, जदयू के पूर्व प्रवक्ता श्रीकांत प्रसाद, जितेंद्र पासवान, शिवनाथ निराला, अभिराम शर्मा, शंकर चौधरी, दिवाकर कुमार, राजीव प्रकाश उर्फ बंटी कुशवाहा समेत दर्जनों नेता उपस्थित थे। सीता कुंड से जब सीएम का काफिला बाहर निकला तो इस तरफ भी अनेकों नेता कतार में खड़े थे। सीएम ने इन कार्यकर्ताओं से मिलने के लिए गाड़ी रुकवा दी। फूल माला स्वीकार किया। सीएम की एक झलक पाने को उत्सुक नजर आए आमजन :

सीएम के आगमन को लेकर शहर में सुरक्षा चौकसी सुबह से ही बढ़ा दी गई थी। नीतीश कुमार का काफिला जिन भी रास्तों से होकर गुजरा वहां सड़क के दोनों ओर लोगों की लंबी-लंबी कतारें दिखीं। महिलाएं भी जत्था में सीएम को देखने के लिए खड़ी थी। युवाओं, किशोर बच्चों में कुछ अधिक जोश दिखा। हर जगह पुलिस बल की तैनाती थी।

Edited By: Jagran