टनकुप्पा (गया), संवाद सूत्र। प्रखंड मुख्यालय से पश्चिम दिशा की ओर ग्रामीणों को बेहतर सुविधा देने के लिए राज्य सरकार ने मखदुमपुर गांव में उप स्वास्थ्य केंद्र (Health Sub Center) के लिए नया भवन बनवाया है। भवन नौ माह पूर्व बनकर तैयार हो चुका है। बस इंतजार है विधिवत उद्घाटन कर स्वास्थ्य सेवा शुरू किए जाने का। लेकिन जिस उद्देश्‍य से भवन बना वही काम नहीं हो रहा। लोगों को पता नहीं चल रहा कि इतना विलंब क्‍यों हो रहा है। अब ग्रामीणों ने डीएम से गुहार लगाई है। उनसे जानना चाहा है कि यह बनने के बाद भी अनुपयोगी क्‍यों पड़ा है।साथ ही अस्पताल को शुरू कराने सहित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की है।

रेलवे लाइन पार करने में होती है मुसीबत  

ज्ञात हो कि प्रखंड से पश्चिम दिशा की ओर स्वस्थ्य सुविधाओं का घोर अभाव है। रेलवे लाइन पार कर टनकुप्पा तक मरीज लाना जटिल समस्या है। गंभीर अवस्था वाले मरीज को गोद मे टांगकर रेलवे लाइन पार कर किसी संसाधन से पीएचसी टनकुप्पा या जिला ले जाना पड़ता है। इस परेशानी से बचने के लिए विभाग की ओर से मखदुमपुर गांव में छह शैया वाला उप स्वास्थ्य केन्द्र बनाया गया। अस्पताल बनने से लोगो में आशा जगी थी कि अब स्वास्थ्य सुविधा नजदीक में मिलेगी। परन्तु अब तक ऐसा नहीं होने पर ग्रामीणों में निराशा उतपन्न होने लगी है। क्षेत्र के समाजसेवी मनोज सिंह ने बताया कि अस्पताल में चिकित्सक, नर्स  सहित अन्य कर्मी की पदस्थापना कर दी जाए तो दर्जन गांव के लोगो को आसानी से चिकित्सा सुविधा मुहैया होने लगेगी।

कोरोना संक्रमित लेागों को भी समय से मिलता उपचार 

लोगों को इस अस्‍पताल के शुरू होने से काफी राहत प्रदान होगा। मखदुमपुर गांव में बहुत लोग कोरोना से संक्रमित है। ऐसी अवस्था मे अगर स्वास्थ्य सुविधा लोगों को मिलती तो राहत होती। मनोज सिंह ने बताया कि क्षेत्र के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से अविलम्ब उप स्वास्थ्य केंद्र चालू कराने का मांग की है। चिकित्सा प्रभारी डॉ उमेश कुमार दिवाकर ने बताया कि मखदुमपुर में उप स्वास्थ्य केंद्र के लिए भवन तैयार है। विभाग से अस्पताल चालू करने का आदेश मिलने पर चालू करा दिया जाएगा।