गया, जागरण संवाददाता। कोरोना महामारी को लेकर एक तरफ रेलवे के द्वारा कई मेमू पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन बंद है। वहीं, गया-पटना रेलखंड पर चार जोड़ी मेमू पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन हो रहा है। लेकिन जब से बिहार में लॉकडाउन हुआ है। उस दिन से गया-पटना रेलखंड पर चलने वाली मेमू ट्रेनों के यात्रियों में धीरे-धीरे संख्या कम हो रही है। इन ट्रेनों में रोज मुश्किल से 1100 से 1200 ही यात्री ही सफर कर रहे हैं। जहां लॉकडाउन के पहले 2500 से 3000 यात्री ट्रेनों से हर रोज सफर करते थे।

इन ट्रेनों में दो जोड़ी ट्रेनों का किराया स्पेशल लग रहा है। इस कारण छोटे-छोटे स्टेशनों का सफर महंगा होने के कारण यात्री मेमू ट्रेन से सफर नहीं कर रहे हैं। रेलवे को उम्मीद थी कि धीरे-धीरे ट्रेन में यात्रियों की संख्या बढ़ जाएगी। लेकिन अब तक तक स्थिति जस की तस है। लॉकडाउन के 10 दिन बीत जाने के बाद भी यात्रियों की संख्या में मामूली इजाफा हुआ है।

रेल सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मेमू ट्रेनों में औसतन एक हजार से 12 सौ यात्री सफर कर रहे हैं। साथ ही मजदूर वर्ग के लोग भी स्पेशल ट्रेन का किराया लगने से सफर करने से बच रहे है। गया से पटना का मेमू ट्रेन का जनरल किराया 25 है वहीं, स्पेशल मेमू ट्रेनों का 50 रुपया है। कोरोना महामारी के साथ लॉकडाउन के कारण सफर करने वाले यात्रियों की संख्या में कमी आने का मुख्य कारण यह भी है।

इसी प्रकार गया-पटना रेलखंड पर चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों का भी हाल खस्ता है। ज्यादातर सीट खाली ही चल रही है। बता दें कि गया जंक्शन पर स्थित बु¨कग काउंटर गया-पटना के बीच चार मेमू ट्रेनें, गया-धनबाद और आसनसोल-वाराणसी-आसनसोल ट्रेनों के लिए ही खिड़की खुलती है। इस लॉकडाउन के दौरान गया-पटना के बीच 8:30 बजे चलने वाली मेमू पैसेंजर ट्रेन में सबसे ज्यादा टिकट कटती है। इस ट्रेन में किराया गया से पटना का मात्र 25 रुपए ही है। इसके अलावे अन्य ट्रेनों में कम टिकट काउंटर से कटती है। रेलवे की आय में हर रोज कमी हो रही है।

बुकिंग काउंटर से हर रोज की टिकट की संख्या और रुपए

2 मई-2171-64000, 3 मई-2516-64010, 4 मई-2335-59600, 5 मई-2220-58700, 6 मई-2167-58200, 7 मई-1588-32600, 8 मई-1677-33500, 9 मई-1800-42360, 10 मई-2042-43600, 11 मई-2150-42500, 12 मई-1825-40500, 13 मई-1440-31166, 14 मई-1682-39820, 15 मई-2136-43295

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप