इमामगंज (गया), संवाद सूत्र। गया जिले के इमामगंज प्रखण्ड के झोपडा़स्थान गांव का एक ग्रामीण सोमवार की रात सड़क हादसे में जख्‍मी हो गया। इसको लेकर अनुसूचित मंगलवार को लोगों ने अपने गांव के पास डुमरिया-पटना स्टेट हाइवे 69 को जाम कर दिया। बताया जाता है कि धक्का लगने से घायल प्रमोद  का इलाज गया में चल रहा है। वहां उसकी हालत चिंताजनक होने की खबर मिलने के बाद व पैसा के बिना उसका इलाज नहीं होने से गुस्साए अनुसूचित जाति के लोगों ने शाम चार बजे अपनी झोपड़ी का सारा सामान, बर्तन, झोला, लकड़ी, कुल्हाड़ी, खंती, आदि  स्टेट हाइवे पर रखकर और बच्चों के साथ सड़क पर बैठकर जाम कर दिया। जाम की स्थिति ऐसी थी कि दो किलोमीटर तक लंबी कतार लग गई। इससे  गया, पटना, रांची, बनारस आदि जगहों से आने वाले लोगों को इस भीषण गर्मी में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इस भीषण गर्मी में यात्री बसों से आ रहे महिलाएं व बच्चों के बीच पीने का पानी के लिए हाहाकार मचा रहा। किसी तरह से  एक स्थानीय लाइन होटल से लोगों ने पानी लेकर अपनी प्यास बुझाई। 

जाम से निकलने के लिए यात्रियों को पैदल चलकर पहुंचना पड़ा गंतव्य स्थान

कोठी सलैया, डुमरिया जाने वाले लोगों काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। लोग कोसों दूर पैदल चलकर अपने गंतव्य स्थान गए। इधर इमामगंज पुलिस घटना की सूचना मिलने के बाद जाम स्थल पर पहुंचकर जाम हटाने के लिए देर शाम तक अनुसूचित जाति लोगो को समझाने का प्रयास करती रही। इस संबंध में थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि धक्का लगने की सूचना सोमवार की रात की है। लेकिन किसी के द्वारा थाना को सूचना नहीं दी। अचानक मंगलवार शाम में पीड़ित परिवार ने अपने झोपड़ी से सारा सामान रखकर सड़क जाम कर दिया। मशक्कत के बाद थानाध्यक्ष और मुखिया अविनाश सिंह ने समझाकर करीब साढ़े सात बजे हाइवे से जाम हटाकर परिचालन सुरु कराया गया। हलांकि स्वजनों ने पुलिस व ग्रामीणों को डराने लिए सांप को भी फेकने का काम किया।