गया, जागरण संवाददाता। शहर के राजकीय कन्या उच्च विद्यालय रमना में गया गाइडेंस प्रोग्राम के तत्वावधान में 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए क्रैश कोर्स का शुभारंभ किया गया। डीईओ राजदेव राम ने बताया कि गया गाइडेंस कार्यक्रम फेज दो क्रैश कोर्स है। कार्यक्रम मूल रूप से बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित किया गया। यह बिहार इंटरमीडिएट की परीक्षा 2022 में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए प्रारंभ किया गया है। कोरोना काल में विद्यार्थियों के पढ़ाई की क्षतिपूर्ति करते हुए परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्त करने के लिए मार्गदर्शन देना है। ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे भी कार्यक्रम से लाभ उठाकर परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्‍त कर सकते हैं ।

डीपीओ आनंद कुमार ने बताया कि गया गाइडेंस प्रोग्राम शिक्षा विभाग द्वारा संचालित एक वर्चुअल स्कूल है। जिसे गया जिले के विभिन्न विद्यालयों के विषय विशेषज्ञ शिक्षकों के सहयोग से संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे भी इस कार्यक्रम से लाभ उठाकर परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्त कर सकते हैं। क्रैश कोर्स के लिए निर्धारित विद्यालय के स्मार्ट क्लास में उपस्थित होकर कार्यक्रम का लाभ उठा सकते हैं।

 प्रतिदिन सभी विषयों के कक्षा का संचालन

गया गाइडेंस प्रोग्राम के द्वारा वर्तमान में प्रतिदिन सभी विषयों के लिए एक रूटीन के अनुसार 11वीं एवं 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए कक्षा का संचालन किया जा रहा है। शनिवार को राजकीय कन्या उच्च विद्यालय रमना के स्मार्ट क्लास में गया गाइडेंस प्रोग्राम के तहत निशुल्क क्रैश कोर्स का शुभारंभ किया गया। जिसमें 12 वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए भूगोल विषय में डा. विवेक कुमार ने परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के पैटर्न की जानकारी देते हुए बेहतर अंक प्राप्त करने के लिए टिप्स बताएं। मारवाड़ी प्लस टू उच्च विद्यालय गया की हिंदी शिक्षिका शारदा कुमारी ने हिंदी व्याकरण के अंतर्गत वर्ण, संधि विच्छेद, समास तथा संक्षेपण के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी दिए। इस अवसर पर गया गाइडेंस प्रोग्राम के गणित टीम लीडर सह गणित शिक्षक प्रमोद कुमार,सामाजिक विज्ञान शिक्षक मनीष कुमार, पूनम शर्मा, उत्तम कुमार एवं बीआरपी पवन कुमार ने कार्यक्रम संचालन में सहयोग करने के लिए उपस्थित रहे।