औरंगाबाद, जागरण संवाददाता।  बीते रविवार को जिले को थोड़ा सुकून देने वाली खबर थी, लेकिन सोमवार को फिर अचानक कोरोना के मामले बढ़ गए। नए आंकड़े ने तो जिले का अब तक का रिकार्ड तोड़ दिया। सोमवार को 1761 सैंपल की जांच में 469 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यानि करीब 27 फीसद। वहीं ट्रूनेट मशीन से 50 सैंपल की जांच हुई तो 27 संक्रमित मिल गए। यानि कि 50 फीसद से अधिक लोग संक्रमित हो गए हैं।

1820 से बढ़कर 2278 हो गए संक्रमित

डीपीएम डॉ. कुमार मनोज ने बताया कि शहर के प्रत्येक मोहल्ले में संक्रमित मिल रहे हैं। रविवार तक जिले में कोरोना संक्रमण के एक्टिव केस 1820 थे, जो अब बढ़कर 2278 हो गए। एक दिन में महज सात संक्रमित ठीक हुए हैं। ठीक होने का आंकड़ा धीरे-धीरे चल रहा है। डीपीएम ने बताया कि सबसे अधिक संक्रमित शहर एवं आसपास वाले इलाके में मिले हैं। सदर अस्पताल में 200 सैंपल की जांच हुई तो 40 पॉजिटिव मिल गए। रमेश चौक पर एंटीजन किट से 171 सैंपल की जांच हुई तो 57 तो रमाबांध में 100 सैंपल की जांच में 28 संक्रमित मिले। इसी तरह दाउदनगर में कोरोना के 38 संक्रमित मिले हैं।

सबसे अधिक देव में मिले 56 संक्रमित

डीपीएम ने बताया कि गोह में 26, हसपुरा में 12, रफीगंज में 29, कुटुंबा में 13, नवीनगर में 29, बारुण में 3 एवं ओबरा में 13 संक्रमित मिले हैं। प्रखंडों में सबसे अधिक देव में 56 एवं मदनपुर में 44 संक्रमित मिले हैं। कोरोना की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। डीपीएम ने घर से बाहर निकलने पर दो गज दूरी के साथ मास्क को जरूरी बताया है। कहा कि कोरोना से लडऩे का मास्क सुरक्षा कवच है। मास्क लगाना न भूलें। जरूरी काम हो तभी घर से बाहर निकलें। आरटीपीसीआर की जांच रिपोर्ट न आने से परेशानी बढ़ी है। आरपीसीआर जांच के  लिए सैंपल अनुग्रह मेडिकल कॉलेज गया भेजा जाता है परंतु वहां से प्रतिदिन रिपोर्ट नहीं मिलता है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021