संवाद सूत्र, रफीगंज, औरंगाबाद। रफीगंज थाना क्षेत्र के गोडीहा गांव के बधार में स्थित एक कुआं में जहरीली गैस की चपेट में आने से दो युवकों की मौत हो गई। मृतकों में विजय यादव उर्फ गुंगु के पुत्र जितेंद्र कुमार (27 वर्ष) एवं रामेश्वर दास के पुत्र मधीर दास उर्फ पंडित (28 वर्ष) शामिल हैं। पुत्र को बचाने कुएं में प्रवेश किए विजय की दम घुटने से हालत गंभीर हो गई।

अस्पताल में इलाज के बाद हालत सही हुआ। मृतक दोनों युवक कुएं में गिरी एक बकरी को निकालने के लिए अंदर प्रवेश किए थे। ग्रामीणों के अनुसार गांव के ही महेश यादव की बकरी चरने के क्रम में कुएं में गिर गई। बकरी को निकालने के लिए पहले जितेंद्र रस्सी के सहारे कुआं में अंदर गया। जाते ही बेहोश हो गया। उसको बचाने के लिए गांव के ही मधीर उर्फ पंडित भी रस्सी के सहारे अंदर जाते ही बेहोश हो गया। दोनों युवकों को बेहोश होने के बाद कुआं ऊपर रहे कुछ ग्रामीणों ने मामले की सूचना गांव में जाकर दी।

सूचना के बाद जितेंद्र के पिता एवं अन्य ग्रामीण कुएं के पास पहुंचे तो देखा कि दोनों युवक कुएं के अंदर बेहोश पड़े हैं। पुत्र को बचाने के लिए जैसे ही विजय अंदर गए कि वे भी बेहोश हो गए। किसी तरह ग्रामीणों ने दोनों युवकों एवं विजय को बाहर बाहर निकाला। ग्रामीणों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रफीगंज एवं थाना को सूचना दी।

सूचना के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ एंबुलेंस गांव पहुंची। बेहोश पड़े दोनों युवकों एवं विजय को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अरविंद कुमार सिंह एवं डॉ. किशोर कुमार देखते ही दोनों युवकों को मृत घोषित कर दिया। विजय को इलाज के लिए भर्ती किया गया। इलाज के बाद हालत ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी कर दी गई।

मौत के बाद मचा कोहराम

दोनों युवकों की मौत से अस्पताल से लेकर गांव में कोहराम मच गया। स्वजन रोने लगे। दोनों मृतकों के पिता, मृतक जितेंद्र के चाचा सुरेंद्र समेत परिवार के अन्य सदस्यों का रो रोकर बुरा हाल हो गया। मृतक जितेंद्र की पत्नी देवंती देवी एवं पांच वर्षीय पुत्र संदीप कुमार की रुलाई से सभी की आंखें नम हो जा रही थी। मृतक मधिर की पत्नी पूनम देवी रोते हुए बेहोश हो जा रही थी। मृतकों के पुत्र एवं पुत्री भी विलखते रहे।

घटना के बाद पहुंचे जनप्रतिनिधि

घटना के बाद अस्पताल में प्रखंड एवं पंचायत के कई जनप्रतिनिधि पहुंचे। गांव में भी जनप्रतिनिधि पहुंचे और मृतकों के स्वजनों को ढाढस बंधाया। मुखिया बिनोद प्रसाद, पूर्व मुखिया शहजादा शाही, जिला उपाध्यक्ष दीनानाथ विश्वकर्मा, ग्रामीण विमल सिंह, पंचायत समिति सदस्य युगेश पासवान ने घटना पर दुख जताया और स्वजनों को ढाढस बंधाया।

Edited By: Prashant Kumar