मोतिहारी। अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर रक्सौल के कस्तूरबा बालिका उच्च विद्यालय प्रांगण में स्वयं सेवी संगठन प्रयास जुवेनाइल एंड सेंटर और चाइल्डलाइन द्वारा कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रयास की आरती कुमारी ने की । जिसमें बालिकाओं के अधिकार के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बाल विवाह, बाल मजदूरी और मानव व्यापार पर विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुए मुसीबत में फंसे बच्चियों को बचाने के लिए चाइल्ड हेल्प लाइन नंबर 1098 के माध्यम से मदद ले सकते है। स्कूल की बच्चियों ने कार्यक्रम के दौरान बताया कि खुद के बचाव के साथ-साथ अपने आसपास के बच्चों को भी इस अपराध से बचाने की कोशिश करेंगे। वहां उपस्थित चाइल्ड लाइन रक्सौल के टीम लीडर अमित कुमार ने बताया कि यह एक आपातकालीन निश्शुल्क सेवा है जो, पूरे भारत में कार्य कर रही है। इसके माध्यम से मुसीबत में फंसे बच्चों को बचाव कर सुविधा प्रदान कर रही है। स्कूल के प्रधानाध्यापक अजय कुमार श्रीवास्तव ने इस प्रयास को बहुत अच्छी पहल बताया। जिससे हमारे समाज में हो रहे ऐसे अपराध को जागरूकता के माध्यम से ही रोका जा सकता है। कार्यक्रम में उपस्थित प्रयास संस्था के राज गुप्ता, वसुंधरा कुमारी और चाइल्ड लाइन से रंजन किशोर मिश्रा, किरण वर्मा, स्कूल की बच्चियां एवं शिक्षक आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस