Move to Jagran APP

Purvi Champaran lok sabha Chunav Result: कौन होगा पूर्वी चंपारण का नया सासंद? अबतक की काउंटिंग में हो गया क्लियर

नए परिसीमन के बाद से ही पूर्वी चंपारण (Purvi Champaran lok sabha election Result Live BJP VIP) में भाजपा का दबदबा कायम है। अबतक की काउंटिंग (Lok Sabha election Result 2024) से ऐसा लगता है कि जनता ने इस दबदबे को एक बार फिर अपनी हरी झंडी दे दी है। कड़ी टक्कर मिलने के बावजूद भाजपा प्रत्याशी राधामोहन सिंह बढ़त बनाने में कामयाब हो गए हैं।

By Jagran News Edited By: Mohit Tripathi Tue, 04 Jun 2024 01:57 PM (IST)
Purvi Champaran Lok sabha result 2024: पूर्वी चंपारण में भाजपा ने बनाई बड़ी बढ़त

डिजिटल डेस्क, पूर्वी चंपारण। Purvi Champaran Lok Sabha chunav Result 2024 । भाजपा का गढ़ मानी जानी वाली पूर्वी चंपारण लोकसभा सीट पर एक बार फिर भाजपा की बल्ले-बल्ले है। डेढ़ बजे तक हुई काउंटिंग में राधामोहन सिंह (Purvi Champaran Lok sabha 2024 Winner) बड़ी लीड बनाने में कामयाब हो गए हैं।

वीआईपी प्रत्याशी डॉ. राजेश कुमार के द्वारा कड़ी टक्कर मिलने के बावजूद राधामोहन सिंह ने 37427 वोटों की बढ़त (Purvi Champaran Lok sabha chunav 2024 Result) बना ली है।

डेढ़ बजे तक राधामोहन सिंह (Radhamohan Singh Purvi Champaran) सिंह को 215642 वोट मिले हैं, जबकि वीआईपी के राजेश कुमार (Dr. Rajesh Kumar Purvi Champaran) को अबतक 178215 वोट मिले हैं। वहीं, निर्दलीय उम्मीदवार मोहम्मद अजमेर को 4998 वोट मिले हैं।

25 मई को वोटिंग हुई थी वोटिंग

पूर्वी चंपारण में छठे चरण के तहत 25 मई को वोटिंग हुई थी। पूर्वी चंपारण सीट कभी कांग्रेस का गढ़ मानी जाती थी, लेकिन परिसीमन के बाद से ही यह भाजपा का गढ़ बनी हुई है। राधामोहन सिंह यहां के निवर्तमान सांसद हैं। कड़ी टक्कर मिलने के बावजूद वह एक बार फिर जीत दर्ज करते नजर आ रहे हैं।

2019 में तीन लाख वोटों से जीते थे राधामोहन

2019 के लोकसभा चुनाव में यहां से राधामोहन सिंह ने करीब तीन लाख वोटों से जीत दर्ज की थी। पिछले चुनाव में उनका मुकाबला रालोसपा के आकाश कुमार सिंह से हुआ था।

कभी कांग्रेस का था बोलबाला, अब भाजपा का गढ़

बता दें कि 107 साल पूर्व जिस भूमि ने मोहनदास करमचंद गांधी को राष्ट्रपिता बनाने में अहम भूमिका निभाई थी, वह क्षेत्र 1977 तक कांग्रेस का गढ़ रहा है। आपातकाल के बाद कांग्रेस हाशिये पर गई तो 1984 के वाद उसकी वापसी नहीं हुई।

परिसीमन के बाद से भाजपा का कब्जा

नए परिसीमन के बाद 2009 के लोकसभा चुनाव से यहां भाजपा का कब्जा बरकरार है। परिसीमन से पहले इस सीट को मोतिहारी के नाम जाना जाता था। 2009 के बाद यह पूर्वी चंपारण लोकसभा क्षेत्र हो गया। इस बार राजग की ओर से भाजपा के राधामोहन सिंह और महागठबंधन की ओर से वीआईपी के डॉ. राजेश कुशवाहा प्रत्याशी हैं।

छह विधानसभा क्षेत्र की लोकसभा सीट है पूर्वी चंपारण।

पूर्वी चंपारण लोक सभा सीट के अंतर्गत छह विधानसभा क्षेत्र आते हैं। छह में से पांच विधानसभा सीटों पर राजग का कब्जा है। चार विधानसभा क्षेत्रों पर भाजपा एक पर जदयू और एक पर राजद का कब्जा है।

हरसिद्धि से कृष्णनंदन पासवान, गोविंदगंज से सुनील मणि तिवारी, मोतिहारी से प्रमोद कुमार एवं पीपरा से श्यामबाबू प्रसाद यादव भाजपा के विधायक हैं। केसरिया से जदयू की शालिनी मिश्रा व कल्याणपुर से राजद के मनोज यादव विधायक हैं।

पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के राधामोहन सिंह जीतते हैं तो लगातार चौथी जीत होगी। वह कांग्रेस के विभूति मिश्रा के लगातार पांच जीत के करीब पहुंच जाएंगे। विभूति मिश्रा ने यहां से सबसे ज्यादा छह बार जीत दर्ज की थी।

Bihar Lok Sabha Election Result 2024 Live : यहां पढ़ें बिहार लोकसभा इलेक्शन के ताजा अपडेट

Lok Sabha Election Result 2024 LIVE: लोकसभा इलेक्शन के ताजा अपडेट के लिए क्लिक करें