दरभंगा। दिन: बुधवार। समय : सुबह के आठ बजे। स्थान : जिले का तारडीह व मनीगाछी प्रखंड। झमाझम होती बारिश और कीचड़नुमा सड़कों से अपनों के सहारे आहिस्ता-आहिस्ता मतदान केंद्रों की ओर बढ़ रहे कदम लोकतंत्र की मजबूती की तस्वीर बयां कर रहे थे। जिले में चौथे चरण में मनीगाछी और तारडीह प्रखंड की पंचायतों के लिए बुधवार को हुए मतदान को लेकर मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह दिखा। मतदान केंद्रों पर पुरुषों की तुलना में महिला मतदाताओं की भीड़ भारी पड़ रही थी। सुबह से ही विभिन्न गांवों से महिलाओं का झुंड घुंघट की आड़ में मतदान केंद्रों की ओर तेजी से बढ़ रहा था। महिलाएं लाइन में खड़ी होकर अपनी बारी की प्रतीक्षा करती नजर आई। तारडीह के कुर्सो मध्य विद्यालय बूथ संख्या 158 पर वोटिग को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह था। महिलाएं अपने हाथों में वोटर आईकार्ड लेकर वोटिग करने को बेकरार दिखी। चेहरे पर झलकती खुशी साफ-साफ संकेत दे रही थी कि अब महिलाएं भी घर की दहलीज को लांघ कर पंचायत सरकार निर्माण और लोकतंत्र की मजबूती में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने लगी है। वे पुरूषों से किसी भी मामले में अब कम नहीं है।

वहीं, ठेंगहा पंचायत के कटहारा स्थित हरिजन दरवाजा मतदान केंद्र संख्या 139 पर कीचड़ के बीच नंगे पांव महिलाएं वोट गिराने के लिए इंतजार करती नजर आई। सभी ने अपने हाथों में अपना परिचय पत्र थाम रखा था। कहा- मतदान हमारा अधिकार है। सुबह में रसोई का काम कर लिया है अब वोट की बारी है। वहीं वृद्धजनों में भी मतदान को लेकर उत्साह दिखा। कोई अपनों के सहारे तो कोई लाठियों के सहारे मतदान करने बूथों पर पहुंच रहे थे। उम्र की अंतिम दहलीज पर मतदान के प्रति इनकी संवेदनशीलता औरों को प्रेरित कर रही थी। पोते के गोद में बैठकर तारडीह में एक वृद्ध महिला मतदान केंद्र पहुंची। इसे देख वहां खड़ा हर किसी में नई उर्जा का संचार होने लगा। जो लोग बारिश के कारण अपने घरों में दुबके हुए थे, वे भी इस वृद्ध महिला को मतदान केंद्र की ओर जाता देख अपने घरों से निकलने लगे। कुर्सो मध्य विद्यालय बूथ संख्या 158 पर लाइन में वोट गिराने के लिए खड़ी उर्मिला देवी ने बताया कि वोटिग को लेकर वे काफी उत्साहित है। कहा कि गांव के विकास के लिए पढ़े-लिखे जनप्रतिनिधि का होना बहुत जरुरी है। पहले के जमाने में महिलाएं इतनी पढ़ी-लिखी नहीं होती थी। जो घर के पुरूष सदस्यों ने कह दिया, वहीं वोट गिरा दिया। लेकिन, अब समय बदल गया है। पंचायत सरकार में महिलाओं के लिए आरक्षण की व्यवस्था की गई है। इसका लाभ कम से कम महिलाओं को तो मिलना ही चाहिए। वहीं, सावित्री ने बताया कि अब महिलाएं भी घर के कामकाज के साथ देश चला सकती है। इसके लिए जरूरी है कि स्वस्थ्य लोकतंत्र हो और उसमें महिलाओं की भागीदारी हो।

-------------

मतदान के दौरान शांति-व्यवस्था कायम रखने के लिए सुरक्षा के थे कड़े इंतजाम

पंचायत चुनाव को लेकर मनीगाछी व तारडीह प्रखंड के विभिन्न मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम थे। मतदान केंद्रों के आसपास सुरक्षा ऐसी की कोई चाहकर भी फटक नहीं सकता था। मतदान को लेकर वहां प्रतिनियुक्त मतदानकर्मी व मजिस्ट्रेट पूरी मुश्तैदी के साथ देर शाम तक डंटे रहे। चुनाव को लेकर एक दिन पूर्व ही मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मी पहुंच चुके थे। हालांकि, बारिश के कारण कहीं-कहीं मतदाताओं के साथ-साथ सुरक्षा कर्मियों को भी परेशानियां हुई। बताया गया कि तारडीह में 55 और मनीगाछी में 54 फीसद वोटिग हुई।

Edited By: Jagran