दरभंगा। संबद्ध महाविद्यालय संघर्ष समिति ने अधिसूचना जारी करने को लेकर शिक्षक दिवस 5 सितंबर से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करने का निर्णय लिया है। संघर्ष समिति के अध्यक्ष सीनेट सदस्य डॉ. राम सुभग चौधरी की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई बैठक में सर्वसम्मति बनी। समिति के मुख्य संरक्षक डॉ. राम मोहन झा ने कहा कि भूख हड़ताल के साथ ही घेरा डालो डेरा डालो कार्यक्रम चलेगा। 19 जून को ¨सडिकेट के घेराव के दौरान विवि प्रशासन ने 15 दिनों के भीतर इस संबंध निर्णय लेने को कहा था। इसके बाद विवि प्रशासन ने हाई कोर्ट के अधिवक्ता से राय ली। लेकिन, उनकी राय से खुद विवि प्रशासन भी संतुष्ट नहीं हो सका। इसके बाद महाधिवक्ता से राय लेने का निर्णय लिया गया। इसी बीच संघर्ष समिति ने उच्च शिक्षा विभाग को इस संबंध दी गई स्पष्ट राय की कॉपी कुलपति कार्यालय को हस्तगत करा दिया गया। साथ ही कई बार समय लेकर कुलपति से मिलने का प्रयास किया गया। वीसी के नहीं मिलने पर कुलसचिव से मिलकर सारी बातें रखी। बावजूद अभी तक विवि प्रशासन ने इस संबंध में कोई निर्णय नहीं लिया है। फलत: मजबूर होकर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल का निर्णय संघर्ष मोर्चा को लेना पड़ा है। उन्होंने कहा की इस बार का आंदोलन आर-पार का होगा। इसलिए इसमें सभी कॉलेजों के शिक्षकों को एकजुट इस आंदोलन में भाग लेने के लिए आह्वान किया। उन्होंने कहा कि अब राज्य सरकार ने पद सृजन संबंधी पत्र विवि को देकर सहूलियत कर दी है। फिर भी अगर विवि प्रशासन दुर्भावना से ग्रस्त है तो इसका जवाब सिर्फ आंदोलन ही है। मौके पर यदुवीर भारती, अभय कुमार, अखिल रंजन झा, डॉ. शंभुनाथ ठाकुर, डॉ. विरेंद्र कुमार, डॉ. अर¨वद कुमार झा, डॉ. रमण कुमार झा, प्रमोद कुमार झा, अजीत कुमार झा, डॉ. राम कुमार झा, डॉ. चंद्रकांत मिश्र, मनोज कुमार, सुरेश राम, मधु रंजन प्रसाद, उदय शंकर मिश्र, सुधीर कुमार झा, जगदीश मंडल, शशिनाथ चौधरी आदि मौजूद थे।

-----------------------------

Posted By: Jagran