दरभंगा। भारतीय राजनीति के मजबूत स्तंभ दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ओर से श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। ¨सहवाड़ा खादी भंडार परिसर में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा प्रखंड महासचिव कैलाश मिश्र ने कहा कि भारत माता के एक ऐसे सपूत अटल जी ने स्वतंत्रता से पूर्व और पश्चात भी अपना जीवन देश के उत्थान एवं कल्याण हेतु न्योछावर कर अमर हो गए। । देशरत्न की उपाधि को सुशोभित करने वाले अटल का जीवन सादगी व अतुल्य था। मंडल भाजपा अध्यक्ष रघुनाथ महतो की अध्यक्षता में वक्ता उप प्रमुख साजीद मुजफ्फर ने कहा कि कौमी एकता के प्रतीक अटल बिहारी वाजपेयी ने विदेश नीति को सरल बनाकर अकलियत समाज के लोगों को विदेशों में रोजगार मुहैया कराने का अवसर प्रदान किया। प्रखंड जदयू अध्यक्ष पप्पू चौधरी ने कहा भारत के बहुदलीय लोकतंत्र में प्रतिभावान अटल जी ने सभी दल को सम्मान देकर देश विदेश में ख्याति अर्जित की। लोजपा अध्यक्ष जय प्रकाश झा व युवा लोजपा अध्यक्ष दयानंद ठाकुर ने कहा अपने राजनीतिक सफर में वाजपेयी जी सबसे आदर्शवादी व प्रशंसनीय राजनेता थे। जिला लोजपा उपाध्यक्ष नागेन्द्र चौधरी व पंचायत समिति प्रतिनिधि गणेश चौबे ने कहा बहुमुखी प्रतिभा के धनि वाजपेयी ने राजनीति पर भी अपनी कविता और व्यंग्य से सबको आश्चर्यचकित करते रहे।उनकी अनेकों प्रकाशित रचनाएं आज भी लोक प्रिय है।अधिवक्ता सुधीर चौधरी ने कहा मातृभाषा ¨हदी से बेहद प्रेम करने वाले,अटल जी पहले राजनेता बने जिन्होंने यूएन जनरल असेंबली में ¨हदी में भाषण दिया था। मौके पर भाजमुयो सचिव संतोष ठाकुर ने इस्ट वेस्ट कोरीडोर पथ का नामाकरण पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर करने की मांग की।सर्व धर्म संभाव की विचार धारा को लेकर राजनिति सफर करने वाले अटल अनमोल रत्न थे।वे दिवंगत होकर भी आम लोगों के प्रेरणा स्त्रोत हैं।मौके पर भोला राय,राजकुमार महतो,मिथिलेश भगत,रामकुमार मंडल,विनय कुमार झा,अभिषेक कुमार,सुशील कुमार झा,मनोज सहनी,व शक्ति केन्द्र प्रमुख शिवशंकर साह,मनोज सहनी,अखिलेश ठाकुर,राम कैलाश यादव,देवानंद मिश्र,जय प्रकाश सहित सैकड़ों लोगों ने अटल जी के चि†ा पर पुष्प अर्पित कर याद किया।उधर भाजपा के वरिष्ठ नेता विश्वनाथ चौधरी ने बताया कि अटल स्मृति दिवस के सम्मान पर कार्यकर्ताओं के साथ सनहपुर में विशेष आयोजन होगा जिसमें सभी धर्म के लोग भाग लेंगे।

Posted By: Jagran