दरभंगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को वीडियो कांफ्रें¨सग के माध्यम से प्रमंडल व जिले के आला पदाधिकारियों के साथ अपराध एवं विधि व्यवस्था की समीक्षा की। सीएम ने हर हाल में अपराध नियंत्रण पर बल दिया। उन्होंने अपराध नियंत्रण व विधि व्यवस्था के लिए भूमि विवाद से संबंधित मामलों का सर्वाधिक प्राथमिकता के साथ निष्पादित करने को कहा। कहा कि प्रत्येक शनिवार को थानाध्यक्ष एवं अंचलाधिकारी संयुक्त रूप से बैठक कर भूमि विवाद से संबंधित मामलों का निष्पादन करेंगे। इन दोनों की ओर से निष्पादित मामलों की साप्ताहिक समीक्षा करने की जिम्मेवारी अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को दी गई।

-----

लंबित केसों के निष्पादन पर विशेष ध्यान दें

मुख्यमंत्री ने पुलिस महकमे के पदाधिकारियों से कहा कि वे लंबित केसों के निष्पादन पर भी विशेष ध्यान दें। पुलिस विभाग में आने वाली आम जनता की शिकायतों का भी प्राथमिकता से निष्पादन करें। आगामी पर्व के मौसम को देखते हुए सभी जगह शांति समिति की बैठक कर लेने को कहा गया।

------------

असामाजिक तत्वों से निपटें डीएम व एसपी

जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को बताया गया कि सड़क दुर्घटना होने एवं अन्य मामलों में कुछ असामाजिक तत्व सार्वजनिक संपत्ति को हानि पहुंचाने लगते हैं। ऐसे असामाजिक तत्वों को चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई करें तथा लोगों के बीच जागरूकता भी फैलाएं कि वे इस तरह की असामाजिक गतिविधियों में भाग न लें। आगामी पर्व को देखते हुए निरोधात्मक कार्यवाही पर भी ध्यान देने को कहा गया।

----------

एसडीओ व डीएसपी को मिला टास्क

आयुक्त मयंक वरवड़े व जिला पदाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर ¨सह ने वीडियो कांफ्रें¨सग में उपस्थित अनुमंडल पदाधिकारियों को वीडियो कांफ्रें¨सग में प्राप्त निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन करने के लिए अभी से कार्यवाही शुरू करने को कहा।

--------

ये थे वीडियो कांफ्रें¨सग में : प्रमंडलीय आयुक्त मयंक वरवड़े, पुलिस उपमहानिरीक्षक विनोद कुमार, जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर ¨सह, एसएसपी मनोज कुमार,डीपीआरओ एलबी ¨सह सहित तीनों अनुमंडलों के एसडीओ व डीएसपी थे।

Posted By: Jagran