दरभंगा । अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन में सृष्टि के सबसे बड़े शिक्षक श्रीकृष्ण पर केंद्रित रूप सज्जा प्रतियोगिता का आयोजन किया। स्थानीय एपी पैलेस सभागार में संपन्न इस प्रतियोगिता में नन्हें-मुन्हें बच्चों ने श्रीकृष्ण और राधिका के रूप में गीतों पर नृत्य करके और विभिन्न भाव-भंगिमा से उपस्थित महिलाओं का दिल जीत लिया। मोर पंख लगाए और बांसुरी लिए बाल श्रीकृष्ण और राधा की प्रस्तुतियों पर तालियां गूंजती रहीं। प्रतियोगिता को दो ग्रुप में बांटा गया था। जूनियर ग्रुप में अंश चौधरी पहले, अलीशा सिन्हा दूसरे एवं चिन्मय झा तीसरे स्थान पर रहे। सीनियर ग्रुप में आद्या श्रीवास्तव पहले, अन्वेषा दूसरे और अभिश्री तीसरे स्थान पर रहीं। निर्णायक मंडल में पत्रकार प्रो. अमलेन्दु शेखर पाठक, अंविता तथा पुनीत सिन्हा के समक्ष मानस राज, माहुल बैरोलिया, पार्थ शर्मा, परिधि, अवनी चौधरी, सानवी बैरोलिया व चाहत ने भी अपनी प्रस्तुति दी। सम्मेलन की शाखाध्यक्ष नीलम पंसारी की अध्यक्षता में संपन्न कार्यक्रम का संयोजन मधु चौधरी ने किया था। नीतू चौधरी के मंच संचालन में हुए कार्यक्रम में निर्णायकों ने सर्वोत्कृष्ट यशोदा के रूप में रैना शर्मा को चुना। अन्य यशोदाओं में नीलू सर्राफ, शिखा बोहरा, अंजू पंसारी, अनुराधा अग्रवाल, श्वेता मित्तल, मनीषा पंसारी, नीलम चौधरी व स्वीटी केडिया शामिल थीं। प्रतियोगिता के पश्चात उपस्थित महिला सदस्यों के बीच खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इसमें वंदना बोहरा, प्रीति अग्रवाल, शशि पंसारी, राधा पोद्दार, आशा चौधरी, कंचन महहनसरिया, शिल्पा बोहरा, बबीता बोहरा आदि ने सक्रिय सहभागिता दी।

Posted By: Jagran