दरभंगा। पतोर ओपी क्षेत्र के खैरा गांव में पानी लेने के विवाद में दो पक्षों के बीच मारपीट और फायरिग की घटना से हड़कंप मच गया। ग्रामीणों की मदद से दो बाहरी लोगों को दबोच लिया गया, जिसे बांधकर लोगों ने जमकर धुनाई कर दी। दोनों को गंभीर स्थिति में डीएसीएच में भर्ती कराया गया है। इधर, कई लोग फायरिग करते हुए फरार हो गए। स्थानीय लोगों ने बताया कि वर्चस्व की लड़ाई में 10 राउंड फायरिग हुई। इसमें रामनंदन सिंह बाल-बाल बच गए। गोली कनपटी को छुते हुए पास कर गई। आरोप है कि रामनंदन की हत्या करने की नियत से उन पर गोली चलाई गई है। जख्मी हाल में रामानंदन के गिरने के बाद बाहरी लोग हवाई फायरिग करने लगे। आवाज सुनकर काफी संख्या में लोग जुट गए। सभी बदमाशों को पकड़ने की कोशिश की। इसमें दो लोगों को खदेड़ कर दबोच लिया गया। जबकि, कई बाइक सहित फरार हो गए। सूचना पर पुलिस पहुंची। काफी मशक्कत के बाद लोगों ने पकड़े गए दोनों बदमाशों को पुलिस के हवाले कर दिया। हालांकि, दोनों को लोगों ने काफी देर तक बांधकर धुनाई करते रहे। इस ²श्य को पुलिस चुपचाप देख रही थी। आक्रोशित लोग एसपी को बुलाने की मांग कर रहे थे। अन्यथा ऑन द स्पॉट कर देने की धमकी दे रहे थे। बीच बचाव दौरान कुछ लोगों ने पुलिस के साथ भी धक्का-मुक्की कर दी। हालांकि, लोगों के समझाने पर सभी मान गए। बताया जाता है कि गांव के रामनंदन सिंह अपने दरवाजे पर चापाकल लगवा रहे है। इसे लेकर शुक्रवार को पास के गड्ढे से पानी ले रहे थे, जिसका रामप्रवेश सिंह एवं उनके पुत्र कृष्ण मोहन सिंह ने विरोध कर दिया। गाली-गलौज एवं नोकझोंक होने के बाद मामला शांत पर गया। लेकिन, शनिवार की शाम कृष्ण मोहन सिंह ने अपने बाहरी साथियों के साथ पहुंचकर रामनंदन सिंह के ऊपर फायरिग कर दी। ओपी प्रभारी सुभाष चंद्र मंडल ने बताया कि गिरफ्त में आए दोनों युवकों से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल दोनों की पहचान नहीं हो पाई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस