दरभंगा। लनामिविवि के दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के परीक्षा सहायक पद पर कार्यरत कर्मी प्रमोद दास और पूर्व एमएलसी व विवि के पीजी समाजशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ. विनोद कुमार चौधरी के बीच 11 जनवरी 2018 को हुई मारपीट मामले में पुलिस ने गुरुवार को प्राथमिकी दर्ज कर ली। विश्वविद्यालय थाने की पुलिस ने जांच के बाद दोनों तरफ से दिए गए आवेदन का कांड दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है। बता दें कि पूर्व एमएलसी पर प्राथमिकी दर्ज करने के लिए लगातार आंदोलन किया जा रहा था। उन पर डिस्टेंस कर्मी प्रमोद दास ने थप्पड़ मारने व गाली-गलौज करने का आरोप लगाया है। कहा है कि लगभग तीन बजे दिन में डॉ. चौधरी निदेशक कार्यालय में आए और पूछने लगे कि परीक्षा का काम कौन देखता है। इसके बाद वे कर्मी के पास गए और थप्पड़ मारते हुए गाली-गलौज की और अपनी पहुंच का धौंस दिखाया। अपने साथ आए दो लोगों व गार्ड के साथ धमकी देते हुए वे वापस चले गए। इधर, पूर्व एमएलसी डॉ. विनोद कुमार चौधरी ने निदेशालय कर्मी प्रमोद कुमार दास व अन्य अज्ञात पर दु‌र्व्यवहार करने का आरोप लगाया है। साथ ही उनके बॉडीगार्ड का हथियार छीनने का प्रयास किया गया।थानाध्यक्ष जितेंद्र नारायण ¨सह ने बताया कि दोनों तरफ से दिए गए आवेदन के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस