दरभंगा। भाकपा माले पोलित ब्यूरो सदस्य सह खेग्रामस के राष्ट्रीय महासचिव धीरेंद्र झा ने कहा है कि बाढ़ से बर्बाद फसल का मुआवजा प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के ऐलान के बाद भी किसानों बटाईदारों को नहीं मिला और न ही गेहूं मक्का की सरकारी खरीद हो पाई है। किसानों के साथ सरकारी नाइंसाफी के खिलाफ जगह-जगह किसान चक्काजाम आंदोलन किया जा रहा है। वे भाकपा माले जिला कार्यालय में संवाददाताओं से मुखातिब थे। कहा कि देश, संविधान और लोकतंत्र बचाने के लिए भाकपा माले भाजपा विरोधी राजनीतिक सामाजिक धुव्रीकरण बनाने में अग्रसर है। 26 जून को लोकतंत्र बचाओ दिवस मनाया जाएगा। मौके पर लोकतंत्र बचाओ मार्च लहेरियासराय में निकाला जाएगा। 26 जून से 26 सितंबर तक राज्यव्यापी जनसंपर्क अभियान चलेगा और इसका समापन 27 सितंबर की पटना रैली में होगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सात निश्चय योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है। 5 डिसमिल वास भूमि और पक्का मकान गरीबों को देने के मौलिक विकास के अभाव में ओडीएफ गली-नली और जल नल योजना अराजकता के हवाले हैं। इन मुद्दों को लेकर जल्दी ही खेग्रामस का एक शिष्टमंडल राज्य सरकार से मिलेगा। भाकपा माले के जिला सचिव वैधनाथ यादव ने कहा कि भाजपा के इशारे पर पुलिस प्रशासन अशोक पासवान समेत कई माल नेताओं के खिलाफ दमन अभियान चला रही है। कई नेताओं को पुराने जन आंदोलन के मुकदमे में गिरफ्तार किया गया है और दर्जनों नेताओं गिरफ्तार करने का दबाव बनाया जा रहा है। हायाघाट थाना प्रभारी भाजपा के राजनीतिक कार्यकर्ता के बतौर काम कर रहे हैं और माले के शांतिपूर्ण लोकतांत्रिक आंदोलन पर हमला की साजिश रचते हैं। मौके पर माले नेता अवधेश ¨सह, ¨प्रस कुमार कर्ण आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप